नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। अपने कला प्रेम के कारण रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन नीता अंबानी को न्यूयॉर्क स्थित मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट के ट्रस्ट में चुना गया है। इसी के साथ नीता अंबानी इस म्यूजियम के 150 साल के इतिहास में ट्रस्टी बनने वाली पहली भारतीय बन गई हैं। नीता अंबानी के ट्रस्टी बनने की घोषणा स्वयं म्यूजियम के चेयरमैन डैनियल ब्रोडस्की ने की है।

डैनियल ब्रोडस्की ने कहा की अंबानी के बोर्ड में शामिल होने से म्यूजियम की क्षमताओं में बढ़ोत्तरी होगी। उन्होंने कहा, 'इंडियन आर्ट और कल्चर को संरक्षित व प्रोत्साहित करने की नीता अंबानी की प्रतिबद्धता वास्तव में असाधारण है। उनके ट्रस्टी बनने से म्यूजियम की क्षमताओं में बढ़ोत्तरी होगी। हमें उन्हें बोर्ड में शामिल करते हुए बड़ी खुशी हो रही है।'

मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट के ट्रस्ट में चुने जाने के मौके पर नीता अंबानी ने कहा की इससे वे सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण के और ज्यादा प्रयास कर पाएंगी। उन्होंने कहा, 'मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट पिछले कई सालों से इंडियन आर्ट में दिलचस्पी ले रहा है। वैश्विक मंचों पर म्यूजियम की इंडियन आर्ट के प्रति रूचि ने मुझे प्रभावित किया है। देश की प्राचीन सांस्कृतिक विरासत के लिए मेरे प्रयासों को दोगुना करने में यह सम्मान मेरी मदद करेगा।'  

गौरतलब है कि रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन नीता अंबानी को मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट ने पहले भी सम्मानित किया था। साथ ही नीता अंबानी ‘द मेट्स इंटरनेशनल काउंसिल’ की सदस्य भी हैं। देश की सांस्कृतिक पहचान को बनाए रखने के लिए रिलायंस फाउंडेशन समय-समय पर प्रयास करता रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप