नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को मंत्रालय के कुछ चुनिन्दा सचिवों और सलाहकारों संग बैठक के बाद मीडिया से बात की। इस दौरान सीतारमण ने मंत्रालयों से समय पर पेमेंट जारी करने के लिए कहा। वित्त मंत्री ने MSME सर्विस प्रोवाइडर को बकाया चुकाने के आदेश दिए। उन्होंने MSME के सभी बकायों का भुगतान जल्द सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इसके अलावा सीतारमण ने मंत्रालयों से चार तिमाहियों का कैपेक्स प्लान मांगा है। वित्त मंत्री ने PSUs के साथ कैपेक्स प्लान पर भी बैठक करने को कहा है।

निर्मला सीतारमण ने अगले कुछ दिनों में मंत्रालयों से बकाया राशि का भुगतान करने के लिए कहा है। उन्होंने त्योहारी सीजन के दौरान मांग और खपत अच्छी रहने की उम्मीद जताई। वित्त मंत्री ने कहा कि वे शनिवार को विभिन्न मंत्रालयों के तहत आने वाले पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग्स और दूसरी एजेंसियों के साथ बैठक करेंगी।

 

उन्होंने कहा कि सरकार को अक्टूबर के पहले सप्ताह तक सरकार 20 हजार करोड़ के बकाये का भुगतान करना चाहिए। व्यय सचिव जीएस मुर्मू ने कहा कि सरकार अगली दो तिमाहियों तक कैपेक्स की निगरानी करेगी।उन्होंने कहा कि अधिकांश सरकारी विभागों ने इस वित्तीय वर्ष में अपनी कुल योजनाओं का 50 फ़ीसद खर्च किया है।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि पैसा उन लोगों तक पहुंचना चाहिए जो इसका इंतजार कर रहे हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि पैसा जमीनी स्तर तक पहुंचना चाहिए जो इसके हकदार हैं। राजकोषीय घाटे के लक्ष्‍य को लेकर पूछे गए एक सवाल के जबाव में वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस वक्‍त हम यह आश्‍वस्‍त करना चाहते हैं कि सरकार उस फंड को रोक कर नहीं बैठी है, जो देय है। जो थोड़े-बहुत खर्चे बचे हैं उन्‍हें अगले कुछ महीनों में पूरा कर लिया जाएगा।

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस