नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार शाम अपनी प्रेस कांफ्रेंस में कई बड़ी घोषणाएं की हैं। वित्त मंत्री ने इस तरह की घोषणाएं की है, जिससे लोगों के हाथों में अधिक पैसा रहे, जिससे वे अपनी जरूरतों के लिए अधिक खर्च कर सकें और खपत में वृद्धि कर सकें। इसमें वित्त मंत्री ने आयकर के साथ ही TDS व TCS के लिए भी बड़ी घोषणा की है। उन्होंने 31 मार्च 2021 तक सभी तरह के टीडीएस व टीसीएस की मौजूदा दर में 25 फीसद की कटौती की घोषणा की है।

मिलेगा 50,000 करोड़ का लिक्विडिटी सपोर्ट

टीडीएस की घटी हुई दर का लाभ कांट्रैक्ट के लिए भुगतान, प्रोफेशनल फीस, ब्याज, किराया, डिविडेंड, कमिशन, ब्रोकरेज आदि में भी मिल सकेगा। दर में यह कटौती वित्त वर्ष 2020-21 की शेष अवधि यानी गुरुवार से 31 मार्च 2021 तक उपलब्ध होगी। सरकार के इस कदम से लोगों और व्यापारों को 50,000 करोड़ रुपये का लिक्विडिटी सपोर्ट मिलेगा।

ITR दाखिल करने की तारीख बढ़ी

वित्तमंत्री ने आयकर रिटर्न को लेकर भी बड़ी घोषणा की है। उन्होंने आयकर रिटर्न भरने की समयसीमा को बढ़ाने की घोषणा की है। वित्त मंत्री ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए सभी आयकर रिटर्न फाइल करने की तारीख को 31 जुलाई 2020 और 31 अक्टूबर 2020 से बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 करने की घोषणा की है। साथ ही टैक्स ऑडिट की तारीख को 30 सितंबर से बढ़ाकर 31 अक्टूबर 2020 कर दिया है।

बढ़ गई  विवाद से विश्वास योजना की अवधि

वित्त मंत्री ने कहा कि सभी धर्मार्थ न्यास और नॉन-कॉरपोरेट कोरोबारों व प्रोफेशंस के सभी बकाया रिफंड्स तत्काल जारी किये जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि बिना अतिरिक्त राशि के भुगतान करने के लिए विवाद से विश्वास योजना की अवधि को 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ा दिया है।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस