नई दिल्‍ली, आइएएनएस। भारत के वैक्‍सीनेशन के मामले में 100 करोड़ का मार्क क्रॉस करने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश की इकोनॉमी तेजी से आगे बढ़ रही है। देश के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि Indian Economy को लेकर एक्‍सपर्ट और दूसरी अंतरराष्‍ट्रीय एजेंसियों का अनुमान सकारात्‍मक है। न सिर्फ देश में निवेश बढ़ा है बल्कि युवाओं को नई नौकरियां भी मिल रही हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि Startups को रिकॉर्ड निवेश मिल रहा है और इससे वे Unicorn बन रहे हैं। पीएम ने इसके साथ ही देसी उत्‍पादों को खरीदने पर जोर दिया ताकि स्‍थानीय स्‍तर पर मैन्‍युफैक्‍चरिंग बढ़े। उन्‍होंने कहा कि स्‍वच्‍छ भारत अभियान की तरह मेड इन इंडिया प्रोडक्‍ट्स को खरीदने के अभियान को राष्‍ट्रीय बनाना होगा। हमें VocalforLocal को सपोर्ट करना है। मेड बाई इंडिया को बढ़ाना है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा भारत में बनी छोटी से छोटी चीज को ही हमें खरीदना चाहिए और यह हम सबके एकसाथ करने से होगा। उन्‍होंने बताया कि Covid mahamari के दौरान भारत की क्षमताओं पर लोग संदेह कर रहे थे। लेकिन हमारा फार्मा सेक्‍टर और बड़ा बनकर उभरा और दुनिया को अपनी स्‍पेशियलिटी से अवगत कराया। दुनियाभर के नेताओं ने भारत में 100 करोड़ लोगों के वैक्‍सीनेशन का आंकड़ा पार करने पर बधाई दी है। उन्‍होंने इसे असाधारण कदम बताया है।

इसके साथ ही PM नरेंद्र मोदी ने त्‍योहारों पर Covid से बचाव के लिए खास सावधानी बरतने को भी कहा। उन्‍होंने सभी लोगों से वैक्‍सीनेशन कराने का आह्वान किया और दूसरों को प्रोत्‍साहित करने को कहा। उन्‍होंने बताया कि महामारी से बचने का सबसे बड़ा उपाय भीड़-भड़कके से बचना था। लेकिन लोगों ने इस बात की आलोचना की। उन्‍होंने कहा कि वैक्‍सीनेशन में किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए और न ही VIP कल्‍चर को बढ़ावा देना है।

Edited By: Ashish Deep