नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में PPF, KVP जैसी विभिन्न स्मॉल सेविंग स्कीम के ब्याज दर में 0.70 फीसद से 1.40 फीसद तक की कटौती कर दी है। Public Provident Fund (PPF) पर ब्याज दर में 0.80 फीसद की भारी कमी की गई है। इसका मतलब है कि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान PPF पर 7.1 फीसद का ब्याज मिलेगा। वहीं, Kisan Vikas Patra (किसान विकास पत्र) पर ब्याज दर को 0.70 फीसद घटाकर 6.9 फीसद कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि लंबे समय से इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि सरकार लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कमी कर सकती है।

National Savings Certificate (NSC) पर ब्याज दर में 1.10 फीसद की जबरदस्त कटौती की गई है। अब इस स्कीम में निवेश पर निवेशकों को 6.8 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। पांच साल के रेकरिंग डिपोजिट (RD) पर ब्याज दर में 1.40 फीसद की सबसे ज्यादा कमी की गई है। अब इस अवधि के RD पर 5.8 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। वहीं, पांच साल के टाइम डिपोजिट पर 6.7 फीसद का ब्याज मिलेगा। इस स्कीम में ब्याज दर में एक फीसद की कटौती की गई है।

सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम्स (SCSS) पर ब्याज दर में 1.2 फीसद की कटौती की गई है। अब इस योजना में निवेश करने वालों को एक अप्रैल, 2020 से 30 जून, 2020 की अवधि में 8.6 फीसद की बजाय 7.4 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। 

सरकार हर तिमाही में इन बचत योजनाओं पर ब्याज दर निर्धारित करती है। केंद्र सरकार ने करीब एक साल के अंतराल के बाद लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कमी की है।

Sukanya Samriddhi Account Scheme पर भी ब्याज दर में 0.80 फीसद की कटौती की गई है। इस स्कीम के तहत अब 8.4 फीसद की बजाय महज 7.6 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा।

दूसरी ओर मंथली इनकम अकाउंट (MIA) पर 7.6 फीसद की बजाय 6.6 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा।

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस