नई दिल्ली, पीटीआइ। इस साल सितंबर के मुकाबले अक्टूबर में म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री की प्रबंधन अधीन संपत्तियां (एयूएम) 7.4 फीसद बढ़कर 26.33 लाख करोड़ रुपये की हो गईं। सितंबर के अंत तक म्यूचुअल फंड का एयूएम 24.5 लाख करोड़ रुपये रहा था। अक्टूबर के दौरान म्यूचुअल फंड की इक्विटी और लिक्विड स्कीम में जोरदार निवेश के बीच एयूएम में अच्छी-खासी बढ़ोतरी हुई है। अक्टूबर में इक्विटी स्कीम में 6,015 करोड़ रुपये का निवेश आया। ‘एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया’ (एम्फी) ने शुक्रवार को इस बारे में ताजा आंकड़े जारी किए हैं।

रिटेल निवेश बढ़ा : फंड मैनेजरों का कहना है कि रिटेल निवेशकों की अधिक भागीदारी और इक्विटी स्कीम्स एवं लिक्विड फंडों में निवेश की मजबूत आमद की वजह से एयूएम में अच्छी बढ़ोतरी हुई है। अक्टूबर में ओपन-एंडेड इक्विटी स्कीम में 6,026 करोड़ रुपये का निवेश हुआ, जबकि क्लोज-एंडेड इक्विटी प्लान में 11 करोड़ रुपये का छोटा निवेश आया। यानी पिछले महीने म्यूचुअल फंडों के जरिये इक्विटी में कुल निवेश 6,015 करोड़ रुपये का रहा।

निवेश को लेकर सेंटीमेंट मजबूत: मॉर्निगस्टार इन्वेस्टमेंट एडवाइजर इंडिया के वरिष्ठ विश्लेषक हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार में तेजी की वजह से इक्विटी म्यूचुअल फंडों में शुद्घ निवेश जारी है। हालांकि सितंबर के मुकाबले अक्टूबर के दौरान इस श्रेणी में निवेश कुछ कम रहा। कुल मिलाकर बेहतर इनफ्लो इस बात का संकेत है कि निवेश को लेकर सेंटीमेंट मजबूत बना हुआ है।

डेट फंडों में जोरदार निवेश : डेट (ऋ ण) स्कीम की बात करें तो लिक्विड फंड्स में 93,203 करोड़ रुपये का निवेश देखा गया, जबकि सितंबर में इस श्रेणी में 1.4 लाख करोड़ रुपये की निकासी देखी गई थी। कुल मिलाकर डेट फंडों में 1.2 लाख करोड़ रुपये की आमद हुई है।

फंड हाउसेज को मिली इतनी रकम : एम्फी के आंकड़ों के मुताबिक म्यूचुअल फंड कंपनियों के पास अक्टूबर में 1.33 लाख करोड़ रुपये की पूंजी आई। इसमें 93,200 करोड़ रुपये से अधिक पूंजी केवल लिक्विड फंडों में आईं। सितंबर के दौरान म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री में 1.52 लाख करोड़ रुपये की निकासी हुई थी।

 

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप