मुंबई, पीटीआइ। केंद्र सरकार ने बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए 5600 करोड़ रुपये का आवंटन किया है। वर्ष 2020-21 के लिए आवंटित इस फंड के साथ महाराष्ट्र सरकार को भी अपना हिस्सा देना है। नेशनल हाईस्पीड रेल कारपोरेशन के सूत्रों ने बताया कि मुंबई-अहमदाबाद के बीच 500 कि लोमीटर लंबी इस परियोजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2022 तक पूरा कराना चाहते हैं। उस वर्ष देश अपनी आजादी की 75वीं जयंती मना रहा होगा। इस परियोजना के लिए महाराष्ट्र और गुजरात को 5000 करोड़ का योगदान करना है।

परियोजना में दोनों राज्यों की एक चौथाई हिस्सेदारी होगी। पश्चिम रेलवे की पिंक बुक के अनुसार दोनों राज्यों ने चालू वित्त वर्ष में 1000 करोड़ रुपये का योगदान किया था। इस बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए जापान इंटरनेशल कोआपरेशन एजेंसी (जायका) ने 1.10 लाख करोड़ का रियायती ऋण देने की पेशकश की है। केंद्रीय वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में इस परियोजना को शीघ्रता से पूरा करने की मंशा जताई थी। हालांकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परियोजना को सफेद हाथी बताते हुए कहा था कि हम देखेंगे कि क्या इससे राज्य के औद्योगिक विकास पर सकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है तभी कोई निर्णय लेंगे।

 

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस