नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने सुनील भारती के उस बयान पर पलटवार किया है जिसमें मित्तल ने कहा था कि टेलिकॉम सेक्टर में हुए नुकसान के लिए जियो जिम्मेदार है। अंबानी ने कहा है कि बिजनेसेज को नियामकों और सरकार की ओर मुनाफे की गारंटी के लिए नहीं देख सकते हैं।

उन्होंने कहा कि फायदा और नुकसान हर बिजनेस का हिस्सा होता है। जरूरी यह है कि इस बात का पता लगाया जाए कि क्या जियो के आने के बाद से देश और ग्राहकों को फायदा हुआ है। दिल्ली में आयोजित एचटी समिट में संबोधन करते हुए कहा कि जियो की एंट्री के बाद भारत दुनियाभर में मोबाइल ब्रॉडबैंड बाजार के मामले में पहले स्थान पर है, यहां यूजर्स अमेरिका और चीन से भी ज्यादा डेटा कंज्यूम कर रहे हैं।

साथ ही यह भी कहा, “मेरा मानना है कि फायदा और नुकसान जोखिम उठाने पर निर्भर करते हैं। मुझे नहीं लगता कि हम नियामक और सरकार से अपने लाभ और घाटे की गारंटी ले सकते हैं।”

मित्तल ने टिप्पणी की थी कि जियो की एंट्री के बाद सभी टेलिकॉम ऑपरेटर्स को उनके कुल निवेश में 40 से 50 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा, “मेरे लिए यह जानना ज्यादा जरूरी है कि क्या हमने देश को आगे बढ़ाया है और क्या ग्राहक को फायदा हुआ है। सवाल ये हो सकते हैं कि क्या फायदे नुकसान हुए, किसे फायदा हुआ, किसे नुकसान हुआ। लेकिन जबतक देश आगे बढ़ रहा है, ग्राहक को फायदा हो रहा है तबतक नुकसान उठाना भी अच्छा है। हममें से कुछ लोग बड़े भी हैं और नुकसान उठाने में सक्षम हैं।”

Posted By: Surbhi Jain