नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। भारतीय अर्थव्यवस्था सुधार की ओर अग्रसर है। मॉर्गन स्टेनले की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर वर्ष 2017 के 6.4 फीसद से बढ़कर वर्ष 2018 में 7.5 फीसद और फिर साल 2019 में 7.7 फीसद तक पहुच सकती है।

मॉर्गन स्टेनले के अनुसार कंपनियों के लाभ और बैलेंस शीट में बुनियादी सुधार देखने को मिला है। वित्तीय प्रणाली मजबूत होगी और निवेश के लिए कर्ज मांग की जरूरत को पूरा करने में सक्षम होगी। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि ऐसी संभावना है कि ये सभी बातें वर्ष 2018 में आर्थिक गति का मार्ग प्रशस्त करेंगी और वास्तविक जीडीपी ग्रोथ रेट इस वर्ष के 6.4 फीसद से बढ़कर वर्ष 2018 में 7.5 फीसद तक हो जाएगी। साथ ही वर्ष 2019 में यह वृद्धि दर 7.7 फीसद रहने की संभावना है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक देश में नोटबंदी और जीएसटी के कार्यान्वयन में तात्कालिक समस्याओं के बाद अब मांग में सुधार देखने को मिल रहा है। इससे निजी पूंजीगत व्यय में सुधार होने की संभावनाओं को लेकर मॉर्गन स्टेनली आश्वस्त है। इसके अतिरिक्त, खपत और निर्यात में भी तेजी दर्ज की जा रही है और इसी के चलते कंपनियों के राजस्व में वृद्धि की संभावना है।

Posted By: Surbhi Jain

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप