नई दिल्ली (जेएनएन)। भारतीय शेयर बाजार बंद होने से ठीक पहले आईडीएफसी बैंक और श्रीराम कैपिटल के बीच होने वाले मर्जर की बातचीत रद्द होने खबर आई। मर्जर रद्द होने की मुख्य वजह दोनों पक्ष के बीच वैल्यूएशन के संबंध में सहमति न बनना है। इस कारण आईडीएफसी के शेयर्स आज के कारोबार में दो फीसद की गिरावट के साथ बंद हुए हैं। इस खबर के बाद एक्सपर्ट्स का मानना है कि मंगलवार के कारोबार में आईडीएफसी बैंक और श्रीराम ट्रांस्पोर्ट फाइनेंस कंपनी के शेयर्स में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है।

मर्जर को लेकर बातचीत बीते चार महीनों से चल रही थी। मर्जर रद्द होने की असल वजह स्वैप रेश्यो पर सहमति न बनना है। दोनों पक्ष अब मर्जर पर आगे चर्चा नहीं करेंगे।

जानकारी के लिए बता दें कि जुलाई महीने में आईडीएफसी बैंक और श्रीराम कैपिटल ने मर्जर को लेकर एक्सक्लूसिव बातचीत का करार किया था। इसके बाद श्रीराम ट्रांस्पोर्ट स्टैंडअलोन कंपनी बरकरार रहती और श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस और श्रीराम कैपिटल को आईडीएफसी बैंक के साथ मर्ज किया जाता। इस डील में ट्रांसपॉर्ट, कंज्यूमर फाइनेंसिंग और इन्फ्रास्ट्रक्चर फंडिंग से जुड़े चार बिजनेस का मर्जर होना था।

आईडीएफसी बैंक को वर्ष 2014 में बैंकिंग लाइसेंस मिला था। वहीं, श्रीराम कैपिटल बिजनेस में उतार-चढ़ाव को कम करने के लिए और बैंकिंग क्षेत्र में कदम रखना चाहती थी।

Posted By: Surbhi Jain

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप