नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अभी तक सिर्फ 50 फीसद से कम बैंक खातों को ही आधार नंबर से जोड़ा जा सका है जबकि इसकी डेडलाइन (अंतिम समय सीमा) में एक महीने से भी कम का समय बचा है। यह जानकारी इंडियन बैंक एसोसिएशन के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर वीजे कन्नन ने दी है। उन्होंने कहा कि ऐसे में जब आधार लिंकिंग की डेडलाइन नजदीक आ रही है अभी तक आधे से भी कम बैंक खाता धारक ही अपने आधार को जमा एवं खातों से लिंक करा पाए हैं।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि सरकार ने आधार को बैंक खातों से लिंक कराने के लिए 31 दिसंबर की डेडलाइन तय की है। हालांकि, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई में, सरकारी वकील ने कहा कि वे उन लोगों के लिए 31 मार्च तक की समय सीमा का विस्तार करने का विरोध नहीं कर रहे हैं जिनके पास आधार कार्ड नहीं है।

कन्नन ने कहा कि ऐसे में जब आधार को लिंक कराना शहरी क्षेत्रों में काफी आसान है वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में बैंक कर्मी चिट्ठी, एसएमएस और नोटिस के माध्यम से ऐसा करने की सूचना दे रहे हैं। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि बैंकों को पूरा भरोसा है कि वो बाकी बचे हुए बैंक खातों को तय समय सीमा के भीतर लिंक करवा लेंगे। जो भी अकाउंट तय सीमा के भीतर लिंक नहीं कराए जाएंगे उन्हें बैंक की ओर से बंद (निष्क्रिय) कर दिया जाएगा।

UIDAI ने कहा आधार लिंकिंग जायज, नहीं होगा डेडलाइन में बदलाव:

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) जो कि आधार कार्ड को जारी करता है ने कहा है कि आधार के जरिए बैंक खातों, पैन कार्ड और मोबाइल के सिम को वैरिफाई करना पूरी तरह वैध एवं जायज है और इसकी डेडलाइन में कोई भी बदलाव नहीं किया जाएगा। पैन और बैंक अकाउंट के साथ आधार को लिंक करवाने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर निर्धारित है जबकि सिम कार्ड को आधार से लिंक करवाने के लिए 6 फरवरी की तारीख निर्धारित की गई है।

By Praveen Dwivedi