नई दिल्ली, पीटीआइ। निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक ने कहा है कि वह सालाना 25 लाख रुपये से अधिक आय वाले कर्मचारियों के वेतन में 10 फीसद कटौती करेगी। बैंक ने कोरोना के कारण लॉकडाउन की वजह से यह फैसला लिया है।

दरअसल, पिछले दिनों बैंक के टॉप प्रबंधन ने स्वैच्छिक रूप से 2020-21 के लिए अपने वेतन में 15 फीसद कटौती का एलान किया था। जिसके बाद आज बैंक ने 10 फीसद कटौती का फैसला लिया है। COVID-19 संकट से अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है, जिसकी वजह से कई कॉर्पोरेट वेतन में कटौती कर रहे हैं। सबसे ज्यादा नुकसान असंगठित क्षेत्र को हुआ है। थिंक-टैंक CMIE के अनुसार, भारत में बेरोजगारी की दर सप्ताह में 3 मई तक 27 फीसद तक पहुंच गई।

कोटक के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी सुखजीत एस पसरीचा ने एक नोट में कहा कि शुरुआत में लगा था कि कोरोना 2-3 महीने में खत्म हो जाएगा लेकिन अब ऐसा नहीं लग रहा है कि यह जल्द खत्म होने वाला है। इस वायरस से जीवन और आजीविका पर गंभीर संकट खड़ा हो गया है।

नोट में कहा गया है कि हमने वित्त वर्ष 2021 के लिए मई महीने से हर उस कर्मचारी के वेतन में 10 फीसद कटौती का फैसला किया है जिसकी सैलरी 25 लाख रुपये सालाना से ज्यादा है।

नोट में बैंक के प्रबंध निदेशक उदय कोटक का भी हवाला दिया गया है। बता दें कि पिछले दिनों समूह और खुद कोटक ने पीएम-केयर फंड और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री राहत कोष में दान की घोषणा की थी।

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस