नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सार्वजनिक क्षेत्र का प्रमुख बैंक माना जाने वाला स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) कई तरह के सेविंग बैंक अकाउंट खुलवाने की पेशकश करता है। इनमें सेविंग प्लस बैंक अकाउंट, बेसिक सेविंग बैंक अकाउंट, स्मॉल सेविंग अकाउंट और सेविंग अकाउंट फॉर माइनर प्रमुख है। इन खातों में 1 करोड़ रुपये तक की जमा पर 3.5 फीसद की दर से ब्याज दिया जाता है। एसबीआई के खातों में कुछ शर्तों को भी पूरा करना होता है। जैसे कि मेट्रो शहरों में बैंक खातों में मिनिमम 3000 रुपये मेंटेन करने होते हैं। हालांकि बेसिक सेविंग बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की कोई शर्त नहीं होती है। वहीं बैंक की वेबसाइट के मुताबिक स्मॉल सेविंग बैंक अकाउंट में अधिकतम बैलेंस की सीमा 50,000 रुपये निर्धारित है।

जानिए कितने तरह के सेविंग अकाउंट ऑफर करता है SBI:

SBI सेविंग प्लस बैंक अकाउंट: यह एक विशेष प्रकार का सेविंग बैंक अकाउंट है जो कि मूड्स या मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम से जुड़ा होता है और इसमें ऑटो स्वीप फैसिलिटी मिलती है। मूड्स में सेविंग बैंक अकाउंट में सरप्लस फंड थ्रेसहोल्ड लिमिट को पार करते ही खुद ही टर्म डिपॉजिट या फिक्स्ड डिपॉजिट में ट्रांसफर हो जाता है, जो कि 1000 के गुणकों में खुलता है। सरप्लस बैलेंस जो कि टर्म डिपॉजिट या एफडी में परिवर्तित होता है, एसबीआई के मुताबिक उसकी मिनिमम थ्रेसहोल्ड लिमिट 35,000 रुपये है। एसबीआई की वेबसाइट के मुताबिक जो न्यूनतम राशि एफडी में ट्रांसफर होती है वो 10,000 होती है और अगर इससे ज्यादा होती है तो वो 1000 के गुणकों में होती है।

एसबीआई बेसिक सेविंग बैंकं अकाउंट: एसबीआई का बेसिक सेविंग बैंक अकाउंट एक ऐसा खास अकाउंट होता है जिसमें मिनिमम बैलेंस रखने की जरूरत नहीं होती है। इसका मतलब यह हुआ कि एसबीआई का बेसिक सेविंग अकाउंट रखने वालों को हर महीने किसी भी तरह का एवरेज बैलेंस रखने की जरूरत नहीं होती है। एसबीआई बेसिक सेविंग बैंक अकाउंट में एक महीने में अधिकतम 4 निकासी की सुविधा देता है।

एसबीआई स्मॉल सेविंग अकाउंट: जिनके पास एसबीआई का स्मॉल सेविंग बैंक अकाउंट होता है उन्हें भी बैंक की किसी एवरेज बैलेंस को पूरा करने की जरूरत नहीं होती है। एसबीआई के मुताबिक एसबीआई के स्मॉल सेविंग अकाउंट में आप अधिकतम 50,000 रुपये तक का बैलेंस रख सकते हैं। एसबीआई के स्मॉस सेविंग अकाउंट से आप अधिकतम एक महीने में 10,000 रुपये की निकासी कर सकते हैं। इसके अलावा अतिरिक्त रुप से एक वित्त वर्ष के दौरान 1 लाख रुपये के क्रेडिट की सुविधा दी गई है।

एसबीआई सेविंग अकाउंट फॉर माइनर: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया माइनर लोगों के लिए दो तरह के अकाउंट की सुविधा देता है। “पहला कदम (फर्स्ट स्टेप) और पहली उड़ान (फर्स्ट फ्लाइट)। इन दोनों ही तरह के सेविंग अकाउंट में इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग जैसे फीचर दिए जाते हैं।” जबकि एसबीआई ने एवरेज मंथली बैलेंस की जरूरत की शर्त इन खातों पर लागू नहीं की है। इन दोनों ही खातों में अधिकतम बैलेंस 10 लाख का रखा जा सकता है।

Posted By: Praveen Dwivedi