नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Keystone Realtors IPO: रियल एस्टेट कंपनी कीस्टोन रियल्टर्स (Keystone Realtors) के आईपीओ (IPO) की लिस्टिंग आज भारतीय स्टॉक एक्सचेंज पर हो गई है। कारोबार के पहले दिन इसके शेयरों की धीमी रफ्तार देखी गई। कंपनी को इश्यू प्राइज से महज 3 प्रतिशत की बढ़त मिली।

बता दें कि कीस्टोन रियल्टर्स ने 541 रुपये की इश्यू प्राइज के साथ बाजार में कदम रखा। वहीं, दिन के अंत तक BSE में इसकी लिस्टिंग प्राइज 555 रुपये थी, जिससे इसे 2.58 फीसदी की बढ़त मिली। NSE लिस्टिंग का हाल भी कुछ ऐसा ही था। यहां भी कंपनी के शेयरों का कारोबार 555 रुपये के साथ शुरू हुआ था, जिसमें 5 फीसदी की तेजी देखी गई। इससे इसके शयरों की कीमत 568.25 रुपये पर पहुंच गई थी।

इसके साथ ही स्टोन रियल्टर्स के आईपीओ की लिस्टिंग के साथ कंपनी का मार्केट कैप 6,342 करोड़ रुपये हो गया है। आईपीओ के लिए मूल्य सीमा 514-541 रुपये प्रति शेयर रखी गई थी।

Keystone IPO का भी था यही हाल

आपको बता दें कि कीस्टोन रियल्टर्स के शेयरों की ट्रेडिंग की तरह ही इसके आईपीओ का रिस्पांस भी फीका था। कंपनी ने आईपीओ के जरिए 635 करोड़ रुपये जुटाये और इसे केवल 2.01 गुना सब्सक्रिप्शन मिला। गौरतलब है कि आईपीओ में 560 करोड़ रुपये का फ्रेश इश्यू था, जबकि 75 करोड़ रुपये ऑफर फॉल सेल के जरिए जुटाये गए हैं। गौर करने वाली बात है कि कीस्टोन रियल्टर्स के आईपीओ के प्रस्ताव को अंतिम दिन 2 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था।

कई परियोजनाओं पर काम कर रही है कीस्टोन

जानकारी के लिए आपको बता दें कि कीस्टोन रियल्टर्स कंपनी की शुरुआत 1995 में हुई थी। यह कंपनी रुस्तमजी ब्रांड के तहत आती है और किफायती आवासीय भवनों, प्रीमियम गेटेड एस्टेट्स, टाउनशिप, कॉर्पोरेट पार्कों, खुदरा स्थानों, स्कूलों, प्रतिष्ठित स्थलों और अन्य रियल एस्टेट परियोजनाओं का निर्माण करती है।

वर्तमान समय में कीस्टोन रियल्टर्स के पास मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन ((MMR) में 32 पूर्ण परियोजनाएं, 12 चल रही परियोजनाएं और 19 आगामी परियोजनाएं हैं।

ये भी पढ़ें-

राजस्व सचिव तरुण बजाज ने कहा- कर संग्रह बजट अनुमान से चार लाख करोड़ रुपये रहेगा अधिक

क्या सच में Tata की हो जाएगी Bisleri? कंपनी के चेयरमैन ने बिकने की बताई यह वजह

 

Edited By: Sonali Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट