नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि भारतीय रुपये में गिरावट के पीछे वैश्विक कारण हैं लिहाजा इसको लेकर किसी भी प्रकार की हड़बड़ाहट की जरूरत नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि इस स्थिति से निजात पाने के लिए जो कुछ भी किया जा सकता है उसे रिजर्व बैंक कर रहा है। गौरतलब है कि बीते दिन रुपये ने डॉलर के मुकाबले 71.95 का स्तर छू लिया था।

गुरुवार को दिन के कारोबार में रुपया 11 बजकर 20 मिनट पर डॉलर के मुकाबले 71.90 पर कारोबार करता देखा गया था। उन्होंने कहा, "अगर आप घरेलू और वैश्विक परिस्थितियों को देखें तो वस्तुतः ऐसा कोई घरेलू कारण नहीं हैं जो इसके लिए जिम्मेदार हैं। मुझे नहीं लगता है कि दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्था को किसी भी प्रकार का तनाव लेने की जरूरत है।" जेटली ने यह बात रुपये की गिरावट के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कही।

जेटली ने आगे कहा कि डॉलर दुनिया की हर मुद्रा के मुकाबले मजबूत हो रहा है और इस बीच रुपया या तो लगातार मजबूत हुआ है या फिर एक रेंज में रहा है। उन्होंने कहा, "रुपया कमजोर नहीं हुआ है, रुपया बेहतर स्थिति में है।" जेटली ने कहा कि रुपया दुनिया की अन्य मुद्राओं जैसे की ब्रिटिश पाउंड और यूरो के मुकाबले मजबूत हुआ है।

Posted By: Praveen Dwivedi