नई दिल्ली, पीटीआइ । आयकर विभाग ने शनिवार को कहा कि 2020-21 के वित्तीय वर्ष (मार्च 2021 को समाप्त) के लिए नए ई-फाइलिंग पोर्टल पर 31 दिसंबर की समय सीमा तक लगभग 5.89 करोड़ आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल किए गए हैं। इसमें से 46.11 लाख से ज्यादा आईटीआर 31 दिसंबर को ही दाखिल किए गए। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने एक में कहा, "करीब 5.89 करोड़ आयकर रिटर्न (आईटीआर) 31 दिसंबर, 2021 तक आयकर विभाग के नए ई-फाइलिंग पोर्टल पर दाखिल किए गए हैं।"

बयान में कहा गया कि, "इनमें से 45.7 प्रतिशत से अधिक आईटीआर पोर्टल पर ऑनलाइन आईटीआर फॉर्म का उपयोग करके दाखिल किए गए हैं और शेष को ऑफलाइन सॉफ्टवेयर उपयोगिताओं से बनाए गए आईटीआर का उपयोग करके अपलोड किया गया है।" इस बार की तुलना में 10 जनवरी, 2021 (असेसमेंट ईयर 2020-21 के लिए आईटीआर के लिए बढ़ाई गई आखिरी तारीख) तक दाखिल किए गए आईटीआर की कुल संख्या 5.95 करोड़ थी। तब अंतिम दिन यानी 10 जनवरी, 2021 को 31.05 लाख आईटीआर दाखिल किए गए थे।

असेसमेंट ईयर 2021-22 (2020-21 वित्तीय वर्ष) के लिए दायर किए गए 5.89 करोड़ ITR में से 49.6 प्रतिशत ITR1 (2.92 करोड़), 9.3 प्रतिशत ITR2 (54.8 लाख), 12.1 प्रतिशत ITR3 (71.05 लाख), 27.2 फीसदी आईटीआर4 (1.60 करोड़), 1.3 फीसदी आईटीआर5 (7.66 लाख) हैं। इसके अलावा 2.58 लाख आईटीआर-6 और 0.67 लाख आईटीआर7 दाखिल किए गए है।

बता दें कि आईटीआर फॉर्म 1 (सहज) और आईटीआर फॉर्म 4 (सुगम) आसान फॉर्म हैं, जो बड़ी संख्या में छोटे और मध्यम करदाताओं के काम आता है। सहज 50 लाख रुपये तक की आय वाले व्यक्ति द्वारा दायर किया जा सकता है और जो वेतन, एक गृह संपत्ति / अन्य स्रोतों (ब्याज आदि) से आय प्राप्त करता है। वहीं, 50 लाख रुपये तक की कुल आय वाले व्यक्तियों, एचयूएफ और फर्मों द्वारा आईटीआर-4 दाखिल किया जा सकता है और जिनकी आय व्यवसाय और पेशे से है।

Edited By: Lakshya Kumar