नई दिल्ली, पीटीआइ। जीएसटी संग्रह और अन्य आर्थिक संकेतकों के साथ-साथ देश की इकोनॉमी में सुधार की गवाही आइटी कंपनियों के तिमाही नतीजे भी दे रहे हैं। देश की दूसरी सबसे बड़ी आइटी कंपनी इन्फोसिस ने दिसंबर, 2020 को समाप्त हुई तिमाही में 5,197 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है। सालभर पहले के 4,457 करोड़ के मुकाबले कंपनी के मुनाफे में 16.6 फीसद की वृद्धि हुई है। आइटी फर्म विप्रो का मुनाफा भी करीब 21 फीसद बढ़ा है।

इन्फोसिस ने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर, 2020) में कंपनी का राजस्व 12.3 फीसद बढ़कर 25,927 करोड़ रुपये रहा। सालभर पहले यह 23,092 करोड़ था।

Infosys के सीईओ और एमडी सलिल पारेख ने कहा, 'इन्फोसिस की टीम ने एक और तिमाही में शानदार नतीजे दिए हैं। डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन पर केंद्रित रहते हुए क्लाइंट के अनुरूप रणनीति ने हमें लगातार विकास की राह पर आगे बढ़ाया है। वैनगार्ड, डेमलर और रोल्स रॉयस जैसी अग्रणी कंपनियों के साथ क्लाइंट पार्टनरशिप इन्फोसिस की डिजिटल एवं क्लाउड कैपेबिलिटी का प्रमाण है।' उन्होंने आगे भी बेहतर प्रदर्शन का भरोसा जताया।

आइटी फर्म विप्रो ने भी बीती तिमाही में करीब 21 फीसद की बढ़ोतरी के साथ 2,968 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी का मुनाफा 2,455.9 करोड़ रुपये रहा था। कंपनी का राजस्व 15,470.5 करोड़ रुपये से 1.3 फीसद बढ़कर 15,670 करोड़ रुपये रहा।

व्रिपो के सीईओ एवं मैनेजिंग डायरेक्टर थियरी डेलापोर्ट ने कहा, 'व्रिपो ने लगातार दूसरी तिमाही में ऑर्डर बुकिंग, रेवेन्यू और मार्जिन के मामले में मजबूत प्रदर्शन किया है। हमने कांटिनेंटल यूरोप में अपनी सबसे बड़ी डील की है।' उन्होंने कहा कि डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, डिजिटल ऑपरेशंस एवं क्लाउड सर्विस की मांग लगातार बढ़ रही है। कंपनी ने एक रुपये प्रति शेयर के लाभांश का एलान किया है।

उल्लेखनीय है कि देश की सबसे बड़ी आइटी फर्म टीसीएस ने शुक्रवार को तिमाही नतीजे जारी किए थे। बीती तिमाही में कंपनी का मुनाफा 7.2 फीसद बढ़कर 8,701 करोड़ रुपये रहा। सालभर पहले कंपनी का मुनाफा 8,118 करोड़ रुपये था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021