नई दिल्ली, पीटीआइ। निवेशकों के लिए इस साल IPO बाजार काफी मुनाफे वाला रहा है। आईपीओ बाजार से इस साल अच्छी नकदी जुटाई गई है। भारी उतार-चढ़ाव वाले सेंकेंडरी मार्केट की तुलना में आईपीओ बाजार की तरफ निवेशकों का अच्छा आकर्षण रहा है। आईपीओ से इस साल निवेशकों को अच्छा रिटर्न मिला है। इस बाजार में 11 में से आठ शेयरों ने इन्वेस्टर्स को मुनाफा दिया है। सूचीबद्द 11 कंपनियों के शेयरों की इस साल 4 अक्टूबर तक की परफॉर्मेंस का विश्लेषण करने पर पता चलता है कि आठ कंपनियों के आईपीओ में इश्यू प्राइस के मुकाबले 7 से 95 फीसद तक की बढ़ोत्तरी हुई है।

गौरतलब है कि अर्थव्यवस्था में जारी सुस्ती, यूएस-चाइना ट्रेड वॉर, कमजोर इन्वेस्टर्स सेंटीमेंट और फॉरेन इन्वेस्टर्स द्वारा फंड की निकासी से बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है। इस सबके बावजूद आईपीओ की अच्छी डिमांड है। इस साल के अब तक के आंकड़ों की बात करें, तो लिस्टेड कंपनियों में से 70 फीसदी के शेयर इश्यू प्राइस से ऊपर कारोबार कर रहे हैं। वहीं इन शेयरों से इन्वेस्टर्स को 95 फीसद तक रिटर्न मिला है।

विश्लेषण से पता चलता है कि जो इंडिया मार्ट इंटेर मेश जुलाई में लिस्टेड हुआ था, उसके शेयर में इश्यू प्राइस के मुकाबले बॉम्बे स्टॉक मार्केट में सबसे ज्यादा 95 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई है। इसके बाद आता है नियोजेन केमिकल्स। इसके शेयर में 76 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई है। उधर एफल लिमिटेड (इंडिया) से इन्वेस्टर्स को 49 फीसद और मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर से 40 फीसद रिटर्न मिला है।

इसके अतिरिक्त पॉलिकेब इंडिया का आईपीओ इश्यू प्राइस के मुकाबले 24 फीसद, रेल विकास निगम लिमिटेड का 21 फीसद, शैलेट होटल्स का 12 फीसद और स्पंदन स्फूर्ति फाइनेंशियल का 7 फीसद मजबूत हुआ है। वहीं, तीन कंपनियों से इन्वेस्टर्स को निराशा मिली है। ये इन्वेस्टर्स को रिटर्न नहीं दे सकी हैं। इनमें एमएसटीसी, स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर और जेल्पमॉक डिजाइन एंड टेक शामिल हैं।

इस संबंध में आनंद राठी शेयर्स एमड स्टॉक ब्रोकर्स के निवेश सेवा के प्रमुख नरेंद्र सोलंकी का कहना है कि बाजार में पिछले एक साल से निवेशकों की धारणा कमजोर रही है। उन्होंने कहा कि इस स्थिति में अच्छे मूल्य वाले आईपीओ ने इन्वेस्टर्स को अच्छा मौका दिया है।

Posted By: Pawan Jayaswal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप