नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सोमवार के कारोबार में इंफोसिस के शेयर्स तीन फीसद की गिरावट के साथ कारोबार कर बंद हुए। इसके बाद कंपनी की मार्केट कैप में 8000 करोड़ रुपये की गिरावट दर्ज की गई। कंपनी के स्टॉक्स में यह गिरावट वित्त वर्ष 2018-19 के लिए उम्मीद से कम मार्जिन गाइडेंस के चलते देखने को मिली है।

दिन के दौरान कंपनी के स्टॉक्स 5.98 फीसद की कमजोरी के साथ 1099 रुपये के स्तर तक आ गये थे। कारोबार के अंत में शेयर्स 3.10 फीसद की कमजोरी के साथ 1132.80 के स्तर पर बंद हुए हैं। वहीं एनएसई पर इसका दिन निम्नतम स्तर 1102 रहा है। कारोबार के अंत तक यह 3.15 फीसद की कमजोरी के साथ 1134.50 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है।

इस गिरावट के चलते कंपनी की मार्केट कैप 7887.28 करोड़ रुपये की गिरावट के साथ 247416.46 करोड़ रुपये के स्तर पर आ गई। यह स्टॉक आज 30 शेयर्स वाले सूचकांक में दूसरा सबसे बड़ा लूजर रहा है।

इन्फोसिस का प्रॉफिट चौथी तिमाही में 2.4 फीसद बढ़ा

सॉफ्टवेयर सर्विस प्रदाता कंपनी इन्फोसिस ने बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं। 31 मार्च 2018 को खत्म हुई तिमाही के दौरान कंपनी का समेकित शुद्ध लाभ 2.4 फीसद के इजाफे के साथ 3,690 करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया। गौरतलब है कि बीते वित्त वर्ष की समान अवधि में कंपनी ने 3,603 करोड़ का मुनाफा दर्ज किया था। इन्फोसिस ने यह जानकारी एक नियामकीय फाइलिंग में दी है।

कंपनी के राजस्व में भी हुआ इजाफा:

बेंगलुरु से संचालित होने वाली इस कंपनी का राजस्व भी चौथी तिमाही में 5.6 फीसद बढ़कर 18,083 करोड़ रहा है, जबकि बीते वित्त वर्ष की समान अवधि (जनवरी-मार्च) में यह 17,120 करोड़ रहा था। इन्फोसिस ने कहा कि उसे साल 2018-19 के दौरान राजस्व में 6 से 8 फीसद तक के इजाफे की उम्मीद है, वहीं डॉलर के टर्म में यह इजाफा 7 से 9 फीसद रहने का अनुमान है। वहीं साल 2017-18 के पूरे वित्त वर्ष के दौरान कंपनी का मुनाफा 11.7 फीसद उछलकर 16,029 करोड़ हो गया, जबकि बीते वित्त वर्ष के दौरान राजस्व 3 फीसद के उछाल के साथ 70,522 करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया था।

By Surbhi Jain