नई दिल्‍ली, पीटीआइ। देश की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी इन्फोसिस के दूसरी तिमाही के नतीजे भी शानदार रहे हैं। कंपनी का एकीकृत शुद्ध लाभ (Net Profit) चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही में 11.9 प्रतिशत बढ़कर 5,421 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 4,845 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी आमदनी 20.5 प्रतिशत बढ़कर 29,602 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 24,570 करोड़ रुपये थी।

बेंगलुरु की कंपनी ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए अपने राजस्व वृद्धि के अनुमान को बढ़ाकर 16.5-17.5 प्रतिशत कर दिया है। इससे पहले कंपनी ने अपने राजस्व में 14 से 16 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया था।

इन्फोसिस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक सलिल पारेख ने कहा, ‘‘हमारा शानदार प्रदर्शन तथा वृद्धि का मजबूत परिदृश्य हमारी रणनीति के अनुकूल है।’’ कंपनी के निदेशक मंडल ने चालू वित्त वर्ष के लिए 15 रुपये प्रति शेयर के अंतरिम लाभांश की घोषणा की है।

दूसरी तरफ, दूरसंचार उपकरण (गियर) बनाने वाली घरेलू कंपनी एचएफसीएल ने बताया कि सितंबर को समाप्त तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 61.18 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 85.94 करोड़ रुपये रहा। एक साल पहले इसी अवधि में कंपनी को 53.32 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।

वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के दौरान एचएफसीएल की एकीकृत आय 6.42 प्रतिशत बढ़कर 1,122.05 करोड़ रुपये हो गयी, जो एक साल पहले इसी अवधि में 1,054.32 करोड़ रुपये थी। एचएफसीएल के प्रबंध निदेशक महेंद्र नाहाटा ने बताया कि तिमाही के दौरान ऑर्डर बुक काफी मजबूत था। सभी विनिर्माण सुविधाओं विशेष रूप से फाइबर ऑप्टिक केबल और ऑप्टिकल फाइबर संयंत्रों में हमारी क्षमता का उपयोग अधिकतम स्तर का रहा। परियोजनाओं के समय पर निष्पादन ने तिमाही के दौरान वृद्धि में मदद किया।

Edited By: Ashish Deep