नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी इन्फोसिस लिमिटेड ने शनिवार को (बीएसई) को दी जानकारी में कहा कि कंपनी के विश्लेषकों की बैठक 23 अप्रैल को मुंबई में होगी। बैठक में कंपनी की ओर से नई रणनीति पेश करने की उम्मीद की जा रही है।

कंपनी ने कहा है कि बैठक की प्रक्रिया कंपनी की वेबसाइट पर लाइव देखी जा सकेगी। इसके साथ ही वेबसाइट पर बैठक में पेश किए गए प्रजेंटेशन और बहस की विषय-वस्तु भी उपलब्ध रहेगी। इस सप्ताह शुक्रवार को वित्तीय नतीजे जारी करते हुए कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सलिल पारेख ने चालू वित्त वर्ष (2018-19) के दौरान बेहतर राजस्व की उम्मीद जताई थी। उन्होंने यह भी कहा था कि कंपनी डिजिटल कारोबार और संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएसए) व यूरोप जैसे प्रमुख बाजारों में कारोबार के स्थानीयकरण पर ध्यान केंद्रित करेगी।

पारेख ने कहा था कि कंपनी चार प्रमुख स्तंभों पर ध्यान केंद्रित करेगी। इनमें डिजिटल कारोबार को बढ़ावा देने और अमेरिका-यूरोप में स्थानीयकरण के अलावा आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस (एआइ) का उपयोग कर ग्राहकों की तकनीकी दक्षता में सुधार करना और कर्मचारियों को नए सिरे से प्रशिक्षण देना शामिल हैं।

इन्फोसिस का लाभ हुआ 16,000 करोड़ के पार

देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी इन्फोसिस लिमिटेड ने पिछले वित्त वर्ष की चौथी और आखिरी तिमाही (जनवरी-मार्च, 18) में 2.4 फीसद बढ़ोतरी के साथ 3,690 करोड़ रुपये कंसोलिडेटेड शुद्ध मुनाफा कमाया है। बंबई शेयर बाजार (बीएसई) को दी जानकारी में कंपनी ने बताया कि समीक्षाधीन अवधि के दौरान के दौरान उसका राजस्व 5.6 फीसद बढ़कर 18,083 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वहीं, इस वर्ष मार्च में खत्म हुए वित्त वर्ष के दौरान कंपनी का शुद्ध मुनाफा 11.7 फीसद बढ़कर 16,029 करोड़ रुपये हो गया है।

By Praveen Dwivedi