नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। फरवरी महीने के दौरान विर्निमाण क्षेत्र में सुस्ती छाई रही। विनिर्माण क्षेत्र में सुस्ती के कारण फरवरी महीने के दौरान औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 0.10 फीसद रही है। फैक्ट्री आउटपुट्स जिसे इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन के आधार पर मापा जाता है फरवरी 2018 में 6.9 फीसद की दर से बढ़ा था।

वित्त वर्ष 2018-19 के अप्रैल से फरवरी की अवधि के दौरान, यानी पहले 11 महीनों के दौरान आईआईपी की औसत वृद्धि दर चार फीसद रही। जबकि इसके पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के दौरान यह दर 4.3 फीसद रही थी। ये डेटा केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) की ओर से शुक्रवार को जारी किया गया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस