नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। बुधवार के कारोबार में भारतीय शेयर बाजार गिरावट के साथ कारोबार कर बंद हुआ है। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 144 अंक की गिरावट के साथ 34155 के स्तर पर और निफ्टी 39 अंक की कमजोरी के साथ 10500 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप इंडेक्स में 0.01 फीसद की बढ़त और स्मॉलकैप में 0.68 फीसद की गिरावट देखने को मिल रही है।

PSU शेयर्स में बिकवाली

सेक्टोरियल इंडेक्स की बात करें तो आरबीआई की ओर से एनपीए पर नए दिशानिर्देश जारी करने से सरकारी बैंकिंग शेयर्स में भारी बिकवाली देखने को मिली है। वहीं दूसरी ओर पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई ब्रांच में पकड़े गए 10,000 करोड़ रुपये के संदिग्ध लेन देन के बैंक के शेयर्स गिरावट दर्ज की गई है। बैंक (1.40 फीसद), ऑटो (0.26 फीसद), फाइनेंशियल सर्विस (0.60 फीसद), एफएमसीजी (0.51 फीसद), आईटी (0.02 फीसद), मेटल (0.10 फीसद) और फार्मा (0.97 फीसद) की गिरावट देखने को मिली है।

एसबीआईएन टॉप लूजर

निफ्टी में शुमार दिग्गज शेयर्स में 14 हरे निशान में और 36 गिरावट के साथ कारोबार कर बंद हुए हैं। सबसे ज्यादा तेजी टेक महिंद्रा, इंडिया बुल्स हाउसिंग लिमिडेट, अदानीपोर्ट, रिलायंस के शेयर्स में है। वहीं गिरावट यस बैंक, एसबीआईएन, एक्सिस बैंक, ओएनजीसी और इंफ्राटेल के शेयर्स देखने को मिली है।

शेयर्स में गिरावट का क्या कारण-
एस्कॉर्ट सिक्योरिटी हेड रिसर्च आसिफ इकबाल का कहना है कि बैंकिंग शेयर्स में गिरावट का मुख्य कारण भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से एनपीए के संबंध में जारी की गई नई गाइडलाइन्स हैं। इसके मुताबिक बैंक अब किसी भी हालत में दबाव ग्रस्त कर्ज को एनपीए में डालने और वसूली के लिए इंसॉल्वेंसी एंड बैंक्रप्सी कोड (आइबीसी) के तहत कार्रवाई को टाल नहीं सकेंगे।

रिजर्व बैंक ने फंसे कर्जो के समाधान के लिए मौजूदा समय में चल रहे आधा दर्जन नियम खत्म कर दिए हैं। अब किसी कर्ज डिफॉल्ट के मामले में बैंकों को 180 दिन के भीतर उसका समाधान निकालना होगा। ऐसा नहीं होने की स्थिति में उस खाते को दिवालिया प्रक्रिया के तहत आगे बढ़ाना होगा। नियम का पालन नहीं कर पाने वाले बैंकों को जुर्माना भी भरना पड़ेगा।

करीब 9.30 बजे

बुधवार के सत्र में भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत बढ़त के साथ हुई। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 100  अंक और निफ्टी करीब 45 अंक चढ़कर खुले। बाजार में बढ़त के बावजूद बैंकिंग शेयरों में बिकवाली देखने को मिल रही है। आपको बता दें कि आज भारतीय शेयर बाजार एक दिन के अवकाश के बाद खुलेंगे। मंगलवार को बाजार शिवरात्रि की छुट्टी के चलते बंद थे।

आज के सत्र में मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में खरीदारी देखने को मिल रही है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर दोनो ही इंडेक्स करीब 1 फीसद की बढ़त के साथ कारोबार कर रहे हैं। सेक्टोरियल इंडेक्स की बात करें तो पीएसयू बैंकिंग इेडक्स में सबसे ज्यादा 0.88 फीसद की गिरावट देखने को मिल रही है। वहीं सबसे ज्यादा तेजी रियल्टी और मेटल इंडेक्स मे है। दोनो ही इंडेक्स 1 फीसद से ज्यादा की बढ़त के साथ कारोबार कर रहे हैं।

दिग्गज शेयरों की बात करें तो निफ्टी में शुमार 50 में से 23 शेयर बढ़त के साथ और 27 शेयर गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं। सबसे ज्यादा तेजी भारती एयरटेल, इंडिया बुल्स फाइनेंस, वेदांता लिमिटेड, बजाज फाइनेंस और एचसीएलटेक के शेयरों में देखने को मिल रही है। वहीं इंफ्राटेल, सनफार्मा, पावर ग्रिड, SBI और ICICI बैंक टॉप लूजर हैं।

एशियाई बाजारों से मिले जुले संकेत

मंगलवार को अमेरिकी बाजार में मजबूत क्लोजिंग के बाद आज सुबह एशियाई बाजारों की शुरुआत मिली हुई। भारतीय बाजार खुलने से पहले करीब 8 बजे सिंगापुर निफ्टी 77 अंक की बढ़त के साथ 10543 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं जापान का इंडेक्स निक्केई 0.77 फीसद की गिरावट के साथ 21081 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। शंघाई 0.18 फीसद की गिरावट के साथ 3179 के स्तर पर और हैंगसैंग 0.73 फीसद की बढ़त के साथ 30058 पर कारोबार कर रहा है। तायवान का इंडेक्स कोस्पी 0.70 फीसद की बढ़त के साथ 2412 के स्तर पर है। 

अमेरिकी बाजार में बढ़त

मंगलवार के सत्र में अमेरिकी शेयर बाजार लगातार तीसरे दिन बढ़त के साथ बंद हुए। डाओ जोन्स 39 अंक चढ़कर 24640 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं  एसएंडपी 500 में भी 0.26 फीसद की बढ़त देखने को मिली। एसएंडपी की क्लोजिंग 2662 के स्तर पर हुई। आईटी कंपनियों वाला इंडेक्स नेस्डेक 31 अंक चढ़कर 7013 के स्तर पर बंद हुआ।

यूरोपिय बाजारों की बात करें तो गिरावट देखने को मिली। जर्मनी का इंडेक्स डैक्स 12196 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं फुटसी 9 अंक की मामूली गिरावट के साथ 7168 के स्तर पर और कैक बिना बदलाव 5109 के स्तर पर बंद हुआ। इस गिरावट की वजह कंपनियों के अनुमान से कमजोरी तिमाही नतीजे रहे।

 

By Shubham Shankdhar