नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। 500 मिलियन अमेरिकी डॉलर या उससे अधिक की संपत्ति रखने वाले भारतीयों (डेमी-अरबपतियों) की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इतनी संपत्ति रखने वाले भारतीयों की संख्या से वर्ष 2022 तक 70 फीसद बढ़ने का अनुमान है। एक हालिया सर्वे में यह जानकारी सामने आई है।

नाइट फ्रैंक इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2017 तक 200 ऐसे लोग थे जिनकी संपत्ति 500 मिलियन डॉलर (50 करोड़ डॉलर) थी, इस आंकड़े के वर्ष 2022 तक 340 तक पहुंचने का अनुमान है। इस रिपोर्ट में कहा गया, "मुंबई और दिल्ली जैसे शहरों में प्राइम आवासीय बाजार पिछले पांच वर्षों में काफी हद तक स्थिर रहे हैं, जिसने खरीदारों के लिए अच्छे प्रवेश अवसर बनाए। डेमी-अरबपतियों की संख्या में वृद्धि स्पष्ट रूप से मांग और मूल्य वृद्धि के लिए संभावित संभावनाओं को रेखांकित करती है।"

इस विश्लेषण में रेखांकित किया गया है कि पांच वर्षों में एशिया के ऐसे डेमी-अरबपतियों की संख्या नार्थ अमेरिका के ऐसे लोगों की संख्या से पहली बार ज्यादा हो जाएगी। वेल्थ डेटा स्पेशलिस्ट वेल्थ एक्स ने भविष्यवाणी की है कि एशिया स्थित 3,000 लोग ऐसे हैं जिनके पास वर्ष 2022 में 500 मिलियन डॉलर से ज्यादा की संपत्ति होगी। उसने कहा कि मजबूत वैश्विक आर्थिक विकास के साथ साथ संपत्ति की बढ़ती कीमतें दुनिया के ऐसे अमीर लोगों की संपत्ति बढ़ाने वाले अहम कारक होंगे। वेल्थ एक्स ने अनुमान लगाया है कि वर्ष 2020 तक दुनिया भर में ऐसे अमीरों की संख्या 9,570 होगी, जो कि वर्ष 2017 के अंत तक 6,900 थी।

Posted By: Praveen Dwivedi