नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। हैदराबाद हाउस में भारत और अमेरिका के बीच हुई द्विपक्षीय वार्ता में कई क्षेत्रों में साथ काम करने को लेकर बात हुए हुई हैं। इस वार्ता में सबसे बड़ी डील रक्षा क्षेत्र में हुई है। ट्रंप ने साझा बयान में बताया कि तीन अरब डॉलर से ज्यादा के रक्षा समझौते पर सहमति हुई है, जिसमें रोमियो हेलिकॉप्टर भी शामिल है। भारत और अमेरिका के बीच तीन एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं। इसमें एक एनर्जी क्षेत्र से भी जुड़ा है। पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देश व्यापक वैश्विक साझेदारी के लिए आगे बढ़ रहे हैं।

द्विपक्षीय वार्ता के बाद साझा बयान में पीएम मोदी ने कहा कि डिफेंस सिक्युरिटी, एनर्जी, टेक्नोलॉजी कॉ-ऑपरेशन और ट्रेड रिलेशन आदि के बारे में दोनों देशों के बीच बात हुई है। पीएम मोदी ने कहा कि तेल और गैस के क्षेत्र में अमेरिका भारत के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण स्रोत बना है। उन्होंने बताया कि दोनों देशों के बीच कुल एनर्जी व्यापार 20 बिलियन डॉलर रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि तीन वर्षों में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार में डबल डिजिट का ग्रोथ हुआ है।

पीएम मोदी ने कहा, ''जहां तक द्विपक्षीय व्यापार का सवाल है, तो हमारे वाणिज्य मंत्रियों के बीच सकारात्मक बातचीत हुई है और हमारे मंत्रियों के बीच जो सहमति बनी हैं उन्हें हमारी टीम लीगल रूप देगी। हम एक बड़ी डील के लिए नेगोशिएशन शुरू करने के लिए भी सहमत हुए हैं। वैश्विक स्तर पर भारत और अमेरिका का सहयोग हमारे समान लोकतांत्रिक मूल्यों और उद्देश्यों पर आधारित है।"

पीएम मोदी ने कहा, 'भारतीय फोर्सेज सबसे ज्यादा ट्रेंनिंग एक्सरसाइज यूएस फोर्सेज के साथ कर रही हैं। हम होमलैंड की सुरक्षा और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर सहयोग बढ़ा रहे हैं। आज होमलैंड को लेकर जो सहमति बनी, वह इस सहयोग को और आगे ले जाएगी।'

वहीं, ट्रंप ने कहा कि इस्लामिक चरमपंथ और आतंकवाद से निपटने के लिए हम दोनों देश साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि वार्ता में आठवीं तकनीक को विकसित करने पर भी बात हुई है। साथ ही उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया जापान के साथ मिलकर ब्लू डॉट नेटवर्क को विस्तार देने को लेकर भी दोनों देशों के बीच बात हुई है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को कहा था कि अमेरिका के प्रतिनिधि मंगलवार को तीन अरब डॉलर की डिफेंस डील पर हस्ताक्षर करेंगे। उन्होंने बताया था कि इस डील के तहत अमेरिका, भारत को स्टेट ऑफ आर्ट मिलिट्री हेलिकॉप्टर और दूसरे उपकरण बेचेगा। ट्रंप ने कहा था कि अमेरिका ड्रोन से लेकर हेलीकॉप्टर और मिसाइल सिस्टम सहित अन्य कई सैन्य उपकरण की आपूर्ति भारत को करेगा।

गुजरात के मोटेरा स्टेडियम में एक लाख से अधिक लोगों को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा था कि उनका देश भारत को सर्वश्रेष्ठ सैन्य उपकरण उपलब्ध कराना चाहता है और भारत-अमेरिका एक शानदार व्यापार समझौते के शुरुआती चरण में हैं।

ट्रंप के आने के बाद भारत अमेरिका के बीच व्यापार में 40 फीसद की तेजी आई है। वहीं, ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी को 'बहुत टफ नेगोशियटर' भी करार दिया था। ट्रंप समय-समय पर अमेरिकी सामानों पर भारत द्वारा लगाए जाने वाले भारी टैरिफ के मुद्दे को भी उठाते आए हैं।

ट्रंप राष्ट्रपति बनने के बाद अपनी पहली भारत यात्रा हैं। उन्होंने सोमवार को अहमदाबाद में 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम में हिस्सा लिया और उसके बाद आगरा में ताजमहल के दीदार भी किए।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस