नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। 5जी के संबंध में भारत अन्य देशों की मदद को लेकर उत्सुक है ताकि वह इस उभरती हुई और महत्वपूर्ण तकनीक को अपनाने वाले खिलाड़ी के तौर पर खुद की मजबूत स्थिति दर्ज करा पाए। यह बात टेलिकॉम मिनिस्टर मनोज सिन्हा ने कही है।

कन्वर्जेंस इंडिया 2018 के मौके पर बोलते हुए सिन्हा ने 5G को सबसे महत्वपूर्ण एवं उभरते हुए क्षेत्रों में से एक बताया। उन्होंने कहा कि इस तकनीक के संबंध में देश के भीतर परीक्षण के लिए वाजिब कदम उठाए हैं। सिन्हा ने कहा, “हम इस प्रयास में शामिल अन्य राष्ट्रों के साथ सहयोग करने को लेकर उत्सुक हैं, इसलिए हम 5जी प्रौद्योगिकी के आकलन, शोधन और उसको अपनाने के मामले में अनुयायी नहीं, बल्कि अगुआ हैं।”

सिन्हा ने कहा कि 5जी भारत के फ्लैगशिप प्रोग्राम डिजिटल इंडिया मिशन के लिए एक उत्प्रेरक के तौर पर काम करेगा। गौरतलब है कि नोटबंदी और जीएसटी के कार्यान्वयन के बाद देश के भीतर डिजिटल पुश के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। 4जी की सक्षमता के चलते ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोग अब अपने पेमेंट डिजिटल माध्यम यानी कि पेटीएम, मोबीक्विक और अन्य माघ्यमों से करने लगे हैं। 5जी के आने के बाद इसमें और तेजी आएगी।

Posted By: Praveen Dwivedi