नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अब वो जमाने लद गए जब पोस्ट ऑफिस में सिर्फ रसीदी टिकट, रेवेन्यू स्टॉम्प, अंतर्देशी, स्पीड पोस्ट, मनी ऑर्डर और रेकरिंग डिपॉजिट की ही सुविधा मिला करती थी। जी हां, अब ये (इंडिया पोस्ट) ‘इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक’ की भी शक्ल ले चुका है जहां आपको लोन, इंश्योरेंस और म्युचुअल फंड की यूनिट्स भी खरीदने को मिलेंगी।

इंडिया पोस्ट अब बैंक एवं अन्य वित्तीय कंपनियों के साथ करार करेगा ताकि वो अपने ग्राहकों को लोन, म्युचुअल फंड यूनिट्स और इंश्योरेंस पॉलिसी उपलब्ध करवाने जैसी सेवाएं दे पाए। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, “इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक अब थर्ड पार्टी के जरिए अपने ग्राहकों को लोन, म्युचुअल फंड यूनिट और इंश्योरेंस जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाएगा। यह लोन समेत पंजाब नेशनल बैंक के कुछ उत्पादों की बिक्री करेगा। इसने इंश्योरेंस के लिए बजाज आलियांज के साथ करार किया है और ये कुछ अन्य पार्टनर की तलाश में है।”

मोदी 21 अगस्त को लांच करेंगे 650 शाखाओं वाला इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 अगस्त को देश भर में फैली 650 शाखाओं के साथ इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आइपीपीबी) लांच करेंगे। यह देश का सबसे बड़ा बैंकिंग नेटवर्क होगा। आइपीपीबी बैंकों तथा वित्तीय संस्थानों के साथ मिलकर ग्राहकों को कर्ज देने के अलावा म्युचुअल फंड तथा इंश्योरेंस पॉलिसियां बेचने का काम करेगा।

संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने बताया कि आइपीपीबी से देश के सभी 1.55 लाख डाकघरों को इस वर्ष के अंत तक इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से जोड़ दिया जाएगा। ग्रामीण इलाकों में तकरीबन 1.30 डाकघरों के जरिये आइपीपीबी की सेवाएं पहुंचेंगी। अभी ग्रामीण इलाकों में केवल 49 हजार बैंक शाखाएं हैं। साथ ही पोस्टमैन डाक बांटने के अलावा बैंकर की भूमिका में भी नजर जाएंगे। फिलहाल रायपुर और रांची में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर आइपीपीबी की शाखाएं काम कर रही हैं।

By Praveen Dwivedi