नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सोशल मीडिया पर जारी अफवाहों के बीच आइसीआइसीआइ बैंक ने अपनी एमडी और सीईओ चंदा कोचर का बचाव किया है। बैंक ने कहा, "हमें कोचर पर पूरा भरोसा है। सोशल मीडिया पर जो भी खबरें चलाई जा रही हैं, उनका उद्देश्य केवल बैंक और उसके प्रमुख की छवि खराब करना है।" सोशल मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक कोचर पर वीडियोकॉन समूह को गलत तरीके से लोन देने का आरोप है।

बैंक ने जारी किया बयान: आईसीआईसीआई बैंक ने बयान जारी करते हुए कहा, 'बोर्ड को बैंक की एमडी और सीईओ चंदा कोचर पर पूर्ण विश्वास है। तथ्यों को देखने के बाद ही बोर्ड इस निष्कर्ष पर पहुंचा है कि भाई-भतीजावाद और हितों के टकराव समेत भ्रष्टाचार की जो अफवाहें चल रही हैं, उनमें कोई वास्तविकता नहीं है।'

20 बैंकों ने दिया था कर्ज: आईसीआईसीआई बैंक ने यह भी बताया है कि 20 बैंकों ने वीडियोकॉन को लोन दिया था। बैंक लोन देने वाले कंसोर्टियम का हिस्सा था, जिसमें उसका योगदान महज 10 फीसद था। अन्य बैंकों ने जिन शर्तों पर वीडियोकॉन को लोन दिया था, उन सब का पालन बैंक ने भी किया था।

15 मार्च 2016 को आईसीआईसीआई बैंक के शेयरहोल्डर अरविंद गुप्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी थी। इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि बैंक ने कर्ज से दबे वीडियोकॉन ग्रुप को उसके खराब ट्रैक रिकॉर्ड के बावजूद कर्ज उपलब्ध कराया था। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि धूत और दीपक कोचर के बिजनेस संबंधों के कारण ऐसा किया गया था।

Posted By: Surbhi Jain

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस