नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। कभी मेनफ्रेम कंप्यूटिंग के लिए मशहूर अमेरिकी कंपनी इंटरनेशनल बिजनेस मशीन (IBM) क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी को अपनाने के लिए IT सेक्टर में दुनिया का सबसे बड़ा सौदा करने जा रही है। IBM 34 अरब डॉलर में Red Hat खरीदने जा रही है। आईबीएम के 108 साल के इतिहास में यह उसका सबसे बड़ा अधिग्रहण होगा। इस अधिग्रहण से आईबीएम का क्लाउड कंप्यूटिंग बिजनेस रफ्तार पकड़ेगा।

गौरतलब है कि रेड हैट लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की एक्सपर्ट कंपनी है। लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है, जो इस समय काफी ज्यादा प्रचलन में आ रहा है। लोग माइक्रोसॉफ्ट के विकल्प के रुप में इसका उपयोग कर रहे हैं।

आईबीएम द्वारा रेड हैट का अधिग्रहण करना यह बताता है कि आईबीएम अब ट्रेडिशनल हार्डवेयर प्रोडक्ट की बजाय क्लाउड, सॉफ्टवेयर और सर्विसेज सेगमेंट में फोकस कर रही है। आईबीएम के कुल रेवेन्यू में क्लाउड रेवेन्यू की हिस्सेदारी की बात करें तो यह साल 2013 की तुलना में 25 गुना बढ़ चुकी है। बताया जा रहा है कि डील के बाद रेड हैट के सीईओ जिम वाइटहर्स्ट अपनी टीम के साथ कंपनी में ही रहेंगे।

Posted By: Pawan Jayaswal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप