नई दिल्ली, पीटीआइ। नौ प्रमुख शहरों में आवास बिक्री में गिरावट दर्ज की गई है। जुलाई-सितंबर अवधि में यह 25 फीसद गिरकर 65,799 यूनिट रही। नई परियोजनाओं की पेशकश में भी 45 फीसद गिरावट दर्ज की गई। रीयल एस्टेट ब्रोकिंग कंपनी प्रॉप टाइगर की रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। ग्राहक की धारणा और मांग में कमी रहने की वजह से गिरावट रही है।

अक्टूबर महीने की शुरुआत में एनारॉक और जेएलएल इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, सात प्रमुख शहरों में जुलाई-सितंबर अवधि में आवास बिक्री में क्रमश: 18 फीसद और एक फीसद गिरावट दर्ज की गई। प्रॉप टाइगर ने अपनी 'रीयल इंसाइट' रिपोर्ट में बताया है कि नौ प्रमुख शहरों में समीक्षावधि में 65,799 आवासीय इकाइयों की बिक्री हुई है। इसी अवधि में पिछले साल यह संख्या 88,078 इकाई थी।

इस सर्वे में में मुंबई महानगर क्षेत्र (नवी मुंबई और ठाणे समेत), पुणे, नोएडा (ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे समेत), गुरुग्राम (भिवानी, दारूहेड़ा और सोहना समेत), बेंगलुरू, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता और अहमदाबाद शामिल हैं। एलारा टेक्नोलॉजी समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ध्रुव अग्रवाल के मुताबिक, सरकार ने गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) की समस्या का समाधान करना शुरू किया है, लेकिन इसके बाद भी सितंबर में समाप्त तिमाही में नई आवासीय इकाइयों की पेशकश में गिरावट नहीं थमी।

बता दें कि एनबीएफसी भारत में रीयल एस्टेट को वित्त पोषण करता है और यह इसका प्रमुख स्रोत है। इसके अलावा त्यौहार होने की वजह से ग्राहकों ने पैसे बचाए या पैसे को कहीं और लगाया जिसकी वजह से तिमाही के दौरान आवास बिक्री में गिरावट रही है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021