नई दिल्‍ली, आशीष दीप। Home Loan और Car Loan लेने वालों के लिए जरूरी खबर है। Loan सस्‍ता होने की उम्‍मीद RBI के प्रमुख ब्‍याज दरों में बदलाव न करने से खत्‍म हो गई है। केंद्रीय बैंक RBI के मुताबिक रेपो रेट को 4 फीसदी पर स्थिर रखा गया है। रिवर्स रेपो रेट भी पहले की ही तरह 3.35 फीसदी पर बना रहेगा।

RBI जब रेपो रेट घटाता है तो लोन (Loan) सस्ता हो जाता है। जबकि इसे बढ़ाने पर लोन महंगा हो जाता है। CA अरविंद दुबे के मुताबिक गनिमत है कि RBI ने प्रमुख ब्‍याज दरों को यथावत रखा है। इससे Loan महंंगा होने के आसार कम हैैं। आरबीआई हर दो महीने पर Repo rate की समीक्षा करता है। रेपो रेट वह दर है जिस पर बैंक आरबीआई से उधार लेते हैं। आम तौर पर बैंकों के लोन की दर रेपो रेट पर निर्भर करती है।

बैंकों के पास बड़ा मौका

पर्सनल फाइनेंस एक्‍सपर्ट और CA मनीष कुमार गुप्‍ता के मुताबिक RBI ने प्रमुख ब्‍याज दरों में कोई बदलाव न करके बैंकों को यह मौका दिया है कि वे FD के रेट और घटाकर अपनी Liquidity बढ़ा सकें। क्‍योंकि Covid mahamari के कारण ज्‍यादातर लोग Fixed deposit कराने पर जोर दे रहे हैं। यह FD सेविंग नहीं बल्कि Emergency Fund के नाम पर हो रही है। इससे बैंकों के पास FD की अर्जी अपने आप आ रही है। बैंक इस Liquidity का फायदा MSME इंडस्‍ट्री को दे सकते हैं। वे Home Loan और Business Loan की दर कम कर सकते हैं ताकि मोदी सरकार के MSME और Real Estate सेक्‍टर को बूस्‍ट करने की मुहिम आगे बढ़े।

बैंक लगातार अपने MCLR में कटौती कर रहे

हालांकि सरकारी बैंक लगातार अपने MCLR में कटौती कर रहे हैं, जिससे Home और Car Loan के रेट सस्‍ते हो गए हैं। मसलन पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने हाल में MCLR में कटौती की है। उसने एक साल की marginal cost lending rate (MCLR) 0.05 प्रतिशत घटाकर 7.30 प्रतिशत कर दी है। बैंक ने कहा कि ब्याज दर एक जून, 2021 से प्रभावी है। छह महीने और तीन महीने की अवधि के लिए MCLR में 0.10 प्रतिशत की कटौती की गई है और इस कटौती के बाद ब्याज दर क्रमश: 7 प्रतिशत और 6.80 प्रतिशत होगी। एक दिन, एक महीने और तीन साल की अवधि के लिये MCLR में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

Canara Bank ने ब्‍याज दर रिवाइज की

वहीं Canara Bank ने MCLR और रेपो लिंक्‍ड लेंडिंग रेट (RLLR) को रिवाइज कर दिया है। नई दरें मई 2021 से लागू हैं। बैंक के मुताबिक Home Loan पर महिलाओं के लिए RLLR 6.90 फीसदी और अन्‍य के लिए 6.95 फीसदी है। चार पहिया समेत कृषि कार्य के लिए इस्‍तेमाल होने वाले लोन की दर 7.35 फीसदी और दो पहिया वाहनों के लिए यह 9.05 फीसदी है। एजुकेशन के लिए अलग-अलग स्‍कीमों के तहत यह लोन 6.90 फीसदी से 8.90 फीसदी के बीच है।

Edited By: Ashish Deep

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट