नई दिल्ली। बिजली कंपनी हिंदुस्तान पावर प्रोजेक्ट्स बिजली उत्पादन क्षमता बढ़ाने की योजनाओं पर 32,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इस निवेश से कंपनी 5,000 मेगावाट की अतिरिक्त क्षमता निर्मित करेगी। पहले मोजर बेयर प्रोजेक्ट्स नाम से जानी जाने वाली यह कंपनी सौर, तापीय और जल विद्युत सभी क्षेत्रों में अगले तीन साल में यह निवेश करेगी।

कंपनी के चेयरमैन रतुल पुरी ने कहा कि परियोजनाओं पर कुल निवेश 31,000 से 32,000 करोड़ रुपये के बीच होगा। इस निवेश से 5,000 मेगावाट से कुछ ज्यादा बिजली उत्पादन क्षमता निर्मित की जाएगी। यह क्षमता 5,200 या 5,300 मेगावाट तक भी रह सकती है।

जल्द निवेश से टैक्स बचत व कमाई भी

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में दो ताप बिजली परियोजनाओं पर पहले ही काम चल रहा है। इसके अलावा कंपनी 1,000 मेगावाट की सोलर पावर परियोजनाएं शुरू करेगी। फिलहाल कंपनी 350 मेगावाट का बिजली उत्पादन कर रही है। 77.5 मेगावाट का सौर बिजली उत्पादन जून में शुरू होने की उम्मीद है। इसके अलावा कंपनी विदेशों में 120 मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजनाओं का संचालन कर रही है। यह परियोजनाएं जर्मनी, इटली और ब्रिटेन में हैं।

ग्रेच्युटी क्या है?

कंपनी ने पिछले तीन वर्ष में करीब 14,500 करोड़ रुपये का निवेश किया है। पुरी ने कहा कि कंपनी ने अक्षय ऊर्जा, तापी और जल विद्युत, कोयला खदान सभी क्षेत्रों में निवेश किया है। कंपनी ने इक्विटी के जरिये 3,600 करोड़ रुपये जुटाए हैं। अब तक कंपनी ने सौर ऊर्जा परियोजनाओं में 5,500 करोड़ रुपये निवेश किए हैं इससे पर्याप्त मात्र में आय हो रही है।

इक्विटी में निवेश से न हिचकें अब

हिंदुस्तान पावर प्रोजेक्ट्स ने इंडिया आर्ट फेयर 2014 के आयोजन में अहम भागीदारी निभाई है। कंपनी ने इस आयोजन को दुनिया को भारत की समृद्धि संस्कृति से रूबरू कराने का शानदार प्लेटफॉर्म बताया। कंपनी के चेयरमैन रतुल पुरी ने कहा कि इंडिया आर्ट फेयर दक्षिण एशिया का प्रमुख मेला है। इस साल मेले के छठे संस्करण में 91 बूथ होंगे, जहां शानदार कृतियों का प्रदर्शन किया जाएगा।