नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश के सबसे बड़े मॉर्गेज कर्जदाता एचडीएफसी (HDFC) ने गुरुवार को मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही का अपना परिणाम जारी किया है। इसके अनुसार, 30 जून, 2020 को पूरी हुई तिमाही में एचडीएफसी के शुद्ध लाभ में 5 फीसद की गिरावट आई है। इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 3,052 करोड़ रुपये रहा है। एक साल पहले की समान तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 3,203 करोड़ रुपये रहा था। इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध ब्याज मार्जिन (NIM) 3.1 फीसद रहा। एक साल पहले की समान अवधि में यह 3.3 फीसद रहा था।

समीक्षाधीन तिमाही में कंपनी की कुल ब्याज आय (NII) 3,392 करोड़ रुपये पर रही। यह एक साल पहले की समान अवधि में 3,079 करोड़ रुपये रही थी। इस तरह इसमें 10 फीसद की ग्रोथ हुई है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर गुरुवार को 2 बजकर 44 मिनट पर एचडीएफसी का शेयर 2.72 फीसद या 51.20 रुपये की गिरावट के साथ 1829 रुपये पर ट्रेंड कर रहा था।

जून तिमाही में एचडीएफसी की एसेट क्वालिटी में सुधार हुआ है। इस दौरान इसका नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स (NPA) 1.89 फीसद पर आ गया। यह पिछली तिमाही में 1.99 फीसद था।

यह भी पढ़ें: अप्रैल-जून तिमाही के दौरान भारत में सोने की मांग 70 फीसद घटी, लॉकडाउन बना कारण

एचडीएफसी ने बताया कि उसके कुल लोन्स के 22.4 फीसद में दूसरे चरण में मोरैटोरियम विकल्प लिया गया है, जबकि व्यक्तिगत लोन पोर्टफोलियो का 16.6 फीसद मौरेटोरियम के अंतर्गत है।

यह भी पढ़ें: Employee Provident Fund इन चार तरीकों से घर बैठे जाना जा सकता है अपने पीएफ अकाउंट का बैलेंस

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस