नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश के सबसे बड़े बैंक SBI के बाद अब निजी क्षेत्र के HDFC Bank ने बेंचमार्क लेंडिंग रेट में 0.05 फीसद की कटौती का ऐलान किया है। इससे बैंक से लोन लेने वाले पुराने एवं नए ग्राहकों पर ईएमआई का बोझ कम होगा। इससे पहले SBI ने भी एक्सटर्नल बेंचमार्क बेस्ड लेंडिंग रेट में 0.25 फीसद की कटौती की थी। इससे बैंक का EBR घटकर 7.80 फीसद रह गया। HDFC Bank ने बयान जारी कर कहा है कि बैंक ने आवासीय ऋण पर  Retail Prime Lending Rate (RPLR) में 0.05 फीसद की कटौती का निर्णय किया है। नई दरें छह जनवरी, 2020 से प्रभावी होंगी।  

बैंक ने कहा है कि नई दरें 8.20 फीसद से 9 फीसद के बीच होगी। HDFC Bank ने कहा है कि ब्याज दरों में बदलाव से सभी पुराने ग्राहकों को भी फायदा होगा। दिसंबर में RBI द्वारा रेपो रेट को 5.15 फीसद पर अपरिवर्तित रखने के बावजूद बैंकों ने ब्याज दरों में यह कमी की है।  

RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने पांच दिसंबर को मौद्रिक नीति की घोषणा के बाद मीडिया से बातचीत में कहा था कि केंद्रीय बैंक ब्याज दरों को घटाने की जल्दी में नहीं है, इसके बावजूद वह यह सुनिश्चित करेगा कि दरों में कटौती का ज्यादा-से-ज्यादा लाभ ग्राहकों तक पहुंचे।  

उल्लेखनीय है कि RBI ने पिछले साल ब्याज दर में 1.35 फीसद की कटौती की थी। इस दौरान बैंकों ने ब्याज दर में औसतन 0.49 फीसद की ही कटौती की। 

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस