नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। एचडीएफसी को 31 मार्च को खत्म होने वाली तिमाही में 2233 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। एचडीएफसी के रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल की इसी तिमाही की तुलना में इस बार 21.97 फीसद की गिरावट दर्ज की गई है। इसको पिछले साल मार्च में खत्म होने वाली तिमाही में 2862 करोड़ का मुनाफा हुआ था।

पिछले साल मार्च महीने में खत्म होने वाली तिमाही की तुलना में इस साल कुल ब्याज आय में 17 फीसद की तेजी दर्ज की गई है। नेट इंटरेस्ट मार्जिन पिछले साल के मुकाबले 1.1 फीसद बढ़कर 3.4 फीसद हो गया। लॉकडाउन के चलते अप्रैल और मई महीने में भी कारोबार कम रहा है। लोन अप्रूवल और लोन रिक्वायरमेंट भी भी कमी आई है।

31 मार्च, 2020 को समाप्त तिमाही के लिए, शुद्ध ब्याज आय 3,564 करोड़ थी, जो एक साल पहले की तिमाही 3139 करोड़ से 14 फीसद ज्यादा थी।

एचडीएफसी बोर्ड की ओर से से एक शेयर पर 21 रुपये लाभांश को मंजूरी दी गई है। एचडीएफसी के लाभांश से इस तिमाही में कमाई केवल 2 करोड़ रुपये रही जो कि पिछले साल 537 करोड़ रुपये था। वहीं निवेश सेल में भी बड़ी गिरावट आई है। हालांकि रेवेन्यू में 3.4 फीसद की तेजी दर्ज की गई है।

RBI के निर्देशों के मुताबिक एचडीएफसी ने ग्राहकों को ब्याज और किस्तों में छूट दी है। आरबीआई ने मई के बाद तीन महीने के लिए मोरैटोरियम बढ़ाने का आदेश दिया है। ग्राहक 31 अगस्त तक इसका फायदा उठा सकते हैं। 

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस