नई दिल्ली, पीटीआइ। गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स नेटवर्क (GSTN) ने जीएसटी हेल्पडेस्क के लिए एक नया टोल-फ्री नंबर शुरू किया है। इस इनडायरेक्ट टैक्स से जुड़े सवालों या समस्या के समाधान के लिए साल के किसी भी दिन इस नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। जीएसटीएन ने एक बयान में कहा है कि जीएसटी हेल्पडेस्क के सिस्टम को और बेहतर और पारदर्शी बनाया गया है। इसके साथ ही टैक्सपेयर्स की सुविधा को ध्यान में रखते हुए नए फीचर्स लांच किए गए हैं।  

सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक काम करेगा हेल्पडेस्क

GSTN ने नया जीएसटी हेल्पडेस्क टोल-फ्री नंबर '1800 103 4786' शुरू किया है। जीएसटी से जुड़े किसी भी सवाल या संशय के समाधान के लिए इस नंबर पर सुबह नौ बजे से शाम नौ बजे तक कॉल किया जा सकता है। जीएसटीएन ने कहा है कि इस नए टोल-फ्री नंबर की शुरुआत के साथ जीएसटी हेल्पडेस्क के रूप में काम कर रहे पुराने नंबर 0120-24888999 को सेवा से हटा दिया गया है। इसका मतलब है कि यह नंबर अब काम नहीं करेगा।  

अब कुल 12 भाषाओं में जीएसटी हेल्पडेस्क एजेंट से होगी बात

इस हेल्पडेस्क पर अब 10 और नई भाषाओं में जानकारी ली जा सकती है। अब तक जीएसटी हेल्पडेस्क से केवल हिन्दी और अंग्रेजी में ही जानकारी मिलती थी। अब बंगाली, मराठी, तेलुगू, तमिल, गुजराती, कन्नड़, ओडिया, मलयालम, पंजाबी और असमी भाषा में भी आप जीएसटी हेल्पडेस्क एजेंट से बात कर सकेंगे। 

हर दिन आते हैं 8-10 हजार कॉल

इसके साथ ही GSTN ने Grievance Redressal Portal का उन्नत संस्करण भी लांच किया है। जीएसटी हेल्पडेस्क को हर दिन 8,000 से 10,000 कॉल आते हैं।

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस