नई दिल्ली, पीटीआइ। सरकार अपने विनिवेश लक्ष्य को पूरा करने के लिए रणनीतिक हिस्सेदारी बिक्री पर ध्यान केंद्रित करेगी। डीआईपीएएम (DIPAM) सचिव तुहिन कांत पांडे ने शुक्रवार को यह बात कही है। उन्होंने कहा कि सरकार चालू वित्त वर्ष में 1.20 लाख करोड़ के सीपीएसई विनिवेश लक्ष्य को पूरा करने के लिए रणनीतिक हिस्सेदारी बिक्री पर ध्यान देगी। 

सरकार ने पहले से ही एयर इंडिया (Air India) और दिग्गज तेल कंपनी बीपीसीएल (BPCL) की रणनीतिक बिक्री के लिए बोलियां आमंत्रित की हुई हैं। सरकार द्वारा कोरोना वायरस महामारी के चलते इनकी बोलियों के लिए समयसीमा को बढ़ा दिया गया गया है।

तेल कंपनी बीपीसीएल (BPCL) में सरकार 52.98 फीसद हिस्सेदारी बेच रही है। इसके लिए बोली की समयसीमा को 31 जुलाई तक बढ़ाया गया है। वहीं, सरकार एयर इंडिया में 100 फीसद हिस्सेदारी बेच रही है। इसके लिए अब 31 अगस्त तक बोली लगाई जा सकती है।

भारत बॉन्ड ईटीएफ पर एक वेबिनार में बोलते हुए पांडे ने कहा कि निवेश एवं लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग का पूरा जोर केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों में रणनीतिक विनिवेश पर है। उन्होंने आगे कहा, 'हमारे कई रणनीतिक लेनदेन चल रहे हैं और आगे बढ़ रहे हैं। इसमें कोविड-19 की वजह से काफी कम व्यवधान हुआ है। सरकार ने स्पष्ट किया है कि हम रणनीतिक विनिवेश को आगे बढ़ाने की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं।'

वित्त वर्ष 2020-21 के लिए सरकार ने 2.10 लाख करोड़ रुपये का विनिवेश लक्ष्य तय किया है। इसमें से 1.20 लाख करोड़ रुपये पीएसयू के विनिवेश से और बाकी के 90,000 करोड़ रुपये एलआईसी सहित वित्तीय संस्थानों में हिस्सेदारी बिक्री से आएंगे।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस