नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क । फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (एफआरएल) के स्वतंत्र निदेशकों ने अमेजन से शनिवार तक यह पुष्टि करने को कहा है कि वह नकदी संकट से जूझ रही खुदरा कंपनी में 3,500 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। सूत्रों ने बताया कि एफआरएल के कर्जदाताओं को 29 जनवरी 2022 तक बकाया चुकाने के लिए उक्त धनराशि देने की खबर आने के बाद स्वतंत्र निदेशकों ने इसकी पुष्टि करने के लिए कहा है।

इससे पहले अमेजन ने एफआरएल के स्वतंत्र निदेशकों को पत्र लिखकर कहा था कि कंपनी द्वारा उसकी सहमति के बिना छोटे आकार के स्टोर को बेचना ‘रोक’ के आदेश उल्लंघन होगा। हालांकि, इसके साथ ही अमेजन ने नकदी संकट से जूझ रही कंपनी के वित्तीय संकट को दूर करने की इच्छा फिर दोहराई थी। अमेजन ने कहा था कि वह एफआरएल के लिए प्रभावी समाधान ढूंढने को काफी इच्छुक है।

अमेजन की सहमति के बिना कोई भी छोटे स्टोर की बिक्री उन निषेधाज्ञाओं का उल्लंघन होगी जो एफआरएल के स्वतंत्र निदेशकों के लिए बाध्यकारी है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ दायर Future Group की याचिकाओं पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। दिल्ली हाईकोर्ट ने सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता केंद्र के आपात फैसले में दखल देने से इनकार कर दिया था। मुख्य न्यायाधीश एनवी रमण की अगुआई वाली पीठ ने कहा था कि हम फैसला सुरक्षित रखते हैं। इस मामले में दायर चारों विशेष अनुमति याचिकाओं (एसएलपी) पर सुनवाई हो चुकी है और हमें बहुत काम करना है। बहरहाल मैं कोई लंबा फैसला नहीं लिखूंगा।

बीते साल दिसंबर के महीने में, सीसीआई ने अमेजन पर 202 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था और समूह की फ्यूचर कूपन के साथ सौदे के लिए अपनी मंजूरी को निलंबित कर दिया था तथा इस मामले और अतिरिक्त जानकारी मांगी थी। ( Pti इनपुट के साथ )

Edited By: Ashish Deep