नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। फोर्टिस हेल्थकेयर ने सोमवार को बताया कि बोर्ड इस हफ्ते एक अहम बैठक करने जा रहा है जिसमें उन सभी विकल्पों पर विचार किया जाएगा जो उन्हें प्राप्त हुए हैं। हेल्थकेयर सेक्टर की दिग्गज कंपनी की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया, “बोर्ड इस हफ्ते बैठक करने जा रहा है और वो उन सभी विकल्पों पर विचार करेगा और उन प्रस्तावों के क्रियान्वयन के बारे में विचार करेगा जो कि कंपनी, कर्मचारियों और शेयरधारकों के हित में होंगे।”

इस एलान की अहमियत इसलिए भी बढ़ जाती है क्योंकि कंपनी ने 14 अप्रैल 2018 को ही बताया था कि उसे आईएचएच बरहद की ओर से एक नॉन बाइंडिंग एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (ईओआई) प्राप्त हुआ है, यानी वो इसमें हिस्सेदारी खरीदना चाहता है। आईएचएच ने 11 अप्रैल 2018 को कंपनी बोर्ड को एक पत्र में लिखा था कि वो फोर्टिस के प्रति शेयर के लिए 160 रुपए देने को तैयार है। वहीं 12 अप्रैल को हीरो और डाबर भी अपना प्रस्ताव कंपनी को सौंप चुके हैं।

क्या था आईएचएच का प्रस्ताव

फोर्टिस हेल्थकेयर के मुताबिक उसे आईएचएच हेल्थकेयर बरहद की ओर से नॉन-बाइडिंग एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट प्राप्त हुआ है, जो कि कंपनी की संभावित भागेदारी खरीद के लिए है। इतना ही नहीं कंपनी ने मलेशियाई हेल्थकेयर प्रमुख की ओर से बोर्ड को भेजे गए एक पत्र को भी साझा किया, जिसमें फोर्टिस के प्रति शेयर के लिए 160 रुपए की पेशकश की गई थी। नियामकीय फाइलिंग में फोर्टिस हेल्थकेयर ने कहा, “कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को आईएचएच हेल्थकेयर बरहद की ओर से नॉन-बाइडिंग एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट प्राप्त हुआ है, जो कि कंपनी की संभावित भागेदारी खरीद के लिए है।”

हीरो और डाबर ने साथ में पेश किया प्रपोजल

हीरो ग्रुप और डाबर इंडिया के प्रमोटर्स ने फोर्टिस हेल्थकेयर में एक महत्वपूर्ण हिस्सेदारी खरीदने के लिए एक साझा बोली निविदा प्रस्तुत की है। सुनील कांत मुंजाल और हीरो एंटरप्राइज की बर्मन फैमिली, दोनों ही फोर्टिस हेल्थकेयर में 3 फीसद की हिस्सेदारी रखती हैं ने दो चरणों में कंपनी में 12.50 अरब रुपये का निवेश करने का प्रस्ताव किया है। इस निवेश के संबंध में उन्होंने कहा कि यह कंपनी की तत्काल जरूरतों को पूरा करने में मदद करेगा जिसके पास सिर्फ 700 मिलियन का लिक्लिड कैश ही बचा है।

By Praveen Dwivedi