नई दिल्ली (जेएनएन)। वैश्विक रेटिंग एजेंसी ने फिच ने भारत की BBB रेटिंग को बरकरार रखा है। साथ ही उसने देश की आउटलुक ग्रोथ में भी कोई बदलाव नहीं किया है। वहीं रेटिंग एजेंसी ने वित्त वर्ष 2017 के लिए देश के लिए 7.7 फीसद की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान लगाया है।

फिच ने कहा कि भारत के बैंकिंग सिस्टम में 6 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाने की जरूरत है। वहीं एजेंसी ने इस बात पर भी जोर दिया कि देश के भीतर तेज रिफॉर्म के जरिए कारोबारी माहौल सुधारे जाने की जरूरत है। आपको बता दें कि केंद्र सरकार भी ईज ऑफ डुइंग बिजनेस के अंतर्गत देश के भीतर कारोबारी माहौल सुधारने की दिशा में तेजी से प्रयास कर रही है।

नोमुरा ने लगाया 7.5 फीसद ग्रोथ का अनुमान
नोमुरा ने बताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था में इस वर्ष (2017) की दूसरी छमाही के दौरान 7.5 फीसद की औसत वृद्धि के साथ विकास दर में क्रमिक सुधार दिखने की संभावना है। वहीं साल 2018 के दौरान देश 7.7 फीसद की ग्रोथ प्राप्त कर सकता है। जापान की वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनी नोमुरा ने बताया कि देश में नोटबंदी के बाद धीरे-धीरे सुधार देखने को मिलेगा। यह सुधार निर्यात और नोटबदली की प्रक्रिया में तेजी के कारण दिखा है जिसने शहरी उपभोग और परिवहन सेवाओं को रफ्तार दी है।

Posted By: Praveen Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस