नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। इस साल गणतंत्र दिवस की परेड में वित्त मंत्रालय की भी झांकी शामिल होगी। इस झांकी में मंत्रालय वित्तीय समावेश (फाइनेंशियल इनक्लूूजन) से जुड़ी अपनी उपलब्धियों को दिखाएगा। रक्षा मंत्रालय ने डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंस (DFS) की डिजाइन को परेड में शामिल करने के लिए चुना है। रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि गणतंत्र दिवस परेड में डीएफएस के अलावा डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड, पेयजल और स्वच्छता विभाग, एनडीआरएफ (गृह मंत्रालय) और CPWD (आवासीय एवं शहरी मामलों के मंत्रालय), मिनिस्ट्री ऑफ शिपिंग की भी झांकियां होंगी।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार अगस्त 2014 से ही वित्तीय समावेश से जुड़ी योजनाओं को मिशन मोड में चला रही है। इसका लक्ष्य बैंकिंग/ सेविंग्स और जमा खाता/ इंश्योरेंस और पेंशन जैसी वित्तीय सेवाओं तक सबकी पहुंच सुनिश्चित करना है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 37.87 करोड़ अकाउंट खोले गए हैं। इनमें 1.12 लाख करोड़ रुपये की कुल जमा है। 

फाइनेंशियल इनक्लुजन से जुड़े भारत के प्रयासों की विश्व बैंक ने भी सराहना की है। वर्ल्ड बैंक के आंकड़ों के मुताबिक नए खुले बैंक खातों में से 55 फीसद अकाउंट भारत से थे। World Bank Global Findex Report 2017 के मुताबिक भारत में बैंक खाता रखने वाले वयस्कों का अनुपात 2017 में बढ़कर 80 फीसद हो गया। वर्ष 2014 में यह आंकड़ा 53 फीसद था। वहीं, 2011 में 35 फीसद व्‍यस्क भारतीयों का बैंक अकाउंट था। 

इसके लिए सरकार ने अधिक से अधिक लोगों को इंश्योरेंस कवर में लाने के लिए भी कदम उठाए हैं। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और अटल पेंशन योजना की शुरुआत 2015 में हुई थी। 

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस