मुंबई। भारत में मीडिया और मनोरंजन के क्षेत्र में 2011 में 12 फीसद वृद्धि दर्ज की गई है। इसके साथ ही यह वृद्धि 72,800 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। 2016 तक इसकी समेकित वृद्धि 15 फीसद होने की उम्मीद है। यह बात फिक्की-केपीएमजीकी ताजातरीन रपट में कही गई है।

केपीएमजी के मीडिया और मनोरंजन प्रमुख जेहिल ठक्कर ने कहा कि मीडिया और मनोरंजन उद्योग के आधार में उल्लेखनीय बदलाव होना है। केबल और फिल्म वितरण का डिजिटल होना, वायरलेस ब्राडबैंड, डीटीएच के प्रसार, इंटरनेट के बढ़ते उपयोग से कंपनियों के काम करने के तरीके में भारी बदलाव आया है। वहीं नए मौकों के मद्देनजर पारंपरिक कारोबारी मॉडल में सुधार हो रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया कि अपेक्षाकृत छोटे शहरों में मनोरंजन के प्रसार, क्षेत्रीय मीडिया में निरंतर वृद्धि और नए मीडिया कारोबार में बढ़ोतरी के कारण वृद्धि की रफ्तार वापस लौटी है। उम्मीद है कि उद्योग 2016 तक साल दर साल समेकित वृद्धि 15 फीसद होगी और कुल कारोबार।,457 अरब रुपए पर पहुंच जाएगा।