नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े आयशर समूह ने देश में कोरोनावायरस से निपटने के लिए 50 करोड़ रुपये के योगदान का मंगलवार को संकल्प जताया। इस राशि का इस्तेमाल अस्पतालों में विशेष वार्ड बनाने एवं स्वास्थ्यकर्मियों के लिए विशेष प्रोटेक्टिव उपकरण खरीदने के लिए किया जाएगा। सार्वजनिक क्षेत्र की Nalco ने इस संकट की स्थिति से निपटने के लिए 10.2 करोड़ रुपये का योगदान किया है। Nalco ने पांच करोड़ रुपये और कंपनी के कर्मचारियों ने अपने एक दिन का वेतन (2.6 करोड़ रुपये) पीएम-केयर्स फंड में जमा किया है। वहीं, कंपनी के कर्मचारियों ने अपने एक दिन का वेतन (2.6 करोड़ रुपये) ओडिशा के मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने की घोषणा की है। इसके अलावा देश के प्रमुख पीआर फर्म Adfactors PR ने PM CARES Fund में 50 लाख रुपये के योगदान की घोषणा की है।

कोरोनावायरस से मुकाबले के लिए धन जुटाने को मार्च के आखिर में इस फंड का गठन किया गया था। आयशर समूह ने 50 करोड़ रुपये के योगदान का संकल्प जताते हुए कहा कि यह शुरुआती प्रतिबद्धता है। उसने कहा है कि समूह आने वाले दिनों में स्थिति पर नजर रखेगा और महामारी के बाद पुनर्वास के लिए अपने योगदान को बढ़ा सकता है। नेशनल एल्यूमीनियम कंपनी लिमिटेड (Nalco) खनन मंत्रालय के तहत काम करने वाली नवरत्न पीएसयू है। कंपनी ने डोनेशन के संबंध में मंगलवार को ट्वीट किया।

Adfactors PR के प्रबंध निदेशक और सह-संस्थापक मदन बहल ने कहा, ''कोरोना संकट से मुकाबले के लिए पीआर और कम्युनिकेशन समुदाय की ओर से यह पीएम-केयर्स फंड में किया गया छोटा सा अंशदान है।''

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस