नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स पर आने वाले ऑडर्स में तेजी देखी गई है। इंडस्ट्री से जुड़े अधिकारियों के अनुसार, परिधान, स्मार्टफोन्स सहित कई दूसरे उत्पादों के ऑर्डर्स तेजी से बढ़ रहे हैं। हालांकि, लॉकडाउन के चलते मई महीने के पहले सप्ताह में ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स पर गैर आवश्यक वस्तुओं की बिक्री पिछले साल की समान अवधि की तुलना में कम रही है। गौरतलब है कि देश में 25 मार्च से ही लॉकडाउन लागू है। दो चरणों के चालीस दिन के लॉकडाउन के बाद चार मई से ग्रीन और ऑरेंज जोन में ई-कॉमर्स कंपनियों को सभी उत्पाद बेचने की अनुमति दी गई थी।

लॉकडाउन के पहले दो चरणों में फ्लिपकार्ट, अमेजन और स्नैपडील जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों को केवल ग्रॉसरी, दवाईयां और हेल्थकेयर उत्पाद जैसी आवश्यक वस्तुएं ही बेचने की अनुमति थी। इसके बाद 4 मई से शुरू हुए तीसरे चरण के लॉकडाउन में सरकार द्वारा रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन के हिसाब से कई सारी छूट दी गई हैं। रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन को कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों की संख्या के आधार पर बांटा गया है।

रेड जोन क्षेत्रों में दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे और हैदराबाद जैसे शीर्ष ई-कॉमर्स हब भी शामिल हैं। यहां ई-कॉमर्स कंपनियां केवल आवश्यक सामानों की ही बिक्री कर रही हैं। इंडस्ट्री से जुड़े अधिकारियों के अनुसार, ग्रीन और ऑरेंज जोन में लोग चार्जर्स, एक्सटेंशन कोर्ड्स, घर पर पढ़ाई के लिए नोटबुक, पेन और विभिन्न विषयों की बुक्स आदि के लिए ऑर्डर दे रहे हैं। साथ ही वे ट्रिमर्स, शतरंज, मोनोपोली, कैरम भी ऑनलाइन मंगा रहे हैं।

अधिकारी ने बताया कि देश भर में गैर-आवश्यक उत्पादों की बिक्री की अनुमति नहीं मिलने से ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर आ रहे ऑर्डर्स की संख्या पिछले साल की तुलना में कम है। हालांकि, मार्च महीने (लॉकडाउन से पहले) की तुलना में निश्चित रूप से अच्छी ग्रोथ मिली है। अधिकारी ने बताया कि इस लॉकडाउन के समय में डिलीवरी के लिए सीमित मैनपावर इंडस्ट्री के सामने एक चुनौती बनकर सामने आया है।

स्नैपडील के एक प्रवक्ता ने कहा, 'हमारा ऑर्डर वॉल्यूम तेजी से बढ़ा है और तीसरे चरण के लॉकडाउन के पांच दिनों के अंदर ही प्री-लॉकडाउन वॉल्यूम के 50 फीसद तक पहुंच गया है। सालाना आधार पर तुलना करें, तो मई 2020 के पहले 9 दिनों में ऑर्डर वॉल्यूम एक साल पहले की अवधि का 52 फीसद रहा है।'

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस