नई दिल्ली, एजेंसी। ई-कॉमर्स क्षेत्र की दिग्गज कंपनी अमेजन के जनवरी से मार्च तिमाही के मुनाफे में 29 फीसद की गिरावट आई है। इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 2.54 अरब डॉलर रहा है। एक साल पहले की समान अवधि में यह 3.56 अरब डॉलर रहा था। हालांकि, इन तीन महीनों के दौरान कंपनी की बिक्री में बढ़ोत्तरी हुई है। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए दुनिया के कई देशों में लागू लॉकडाउन के चलते ऑनलाइन खरीदारी में इजाफा हुआ है। लेकिन लॉकडाउन के बीच ऑनलाइन डिलीवरी के कारण कंपनी की लागत भी बढ़ गई। जिसके चलते मुनाफे में गिरावट हुई है।

राजस्व की बात करें, तो कंपनी ने बताया है कि मार्च तिमाही में उसके राजस्व में 26 फीसद का उछाल आया है। इस उछाल के साथ यह 75 अरब डॉलर से अधिक रहा है। अमेजन के सीईओ और फाउंडर जेफ बेजोस कहा है कि साल 2020 की दूसरी तिमाही अर्थात अपैल से जून के बीच कंपनी करीब चार अरब डॉलर कर्च करेगी। उन्होंने बताया कि यह खर्च कर्मचारियों को ओवरटाइम का भुगतान करने, सैनेटाइजेशन के कार्यों और कोरोना वायरस को लेकर सुरक्षा इंतजामों में होगा।

अमेजन के चीफ फाइनेंस ऑफिसर ब्रायन ओलासावस्की ने कहा, 'कंपनी ने ग्राहकों के ऑर्डर की डिलीवरी को समय पर सुनिश्चित करने के लिए एक लाख 75 हजार लोगों को काम पर रखा है। कंपनी इन कर्मचारियों को प्रत्येक घंटे के लिए 2 डॉलर अतिरिक्त भुगतान के रुप में भी दे रही है।' हालांकि, ब्रायन ने कहा कि डिलीवरी प्रोसेस कब सामान्य स्थिति में आएगा, इस बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है।

अमेजन का कहना है कि कोरोना वायरस महामारी के इस विकट समय में दूसरी पारंपरिक रिटेल कंपनियों की तुलना में उनकी आर्थिक स्थिति बेहतर है। कुछ कंपनियों ने अपने स्टोर्स को अस्थायी रुप से बंद भी कर दिया है, जिससे बिक्री पर असर पड़ा है। कोरोना वायरस प्रकोप के चलते इस समय जिन देशों में ई-कॉमर्स कंपनियों को परिचालन की अनुमति है, वहां कंपनी का डिलीवरी का समय काफी बढ़ गया है। यह दो दिन से बढ़कर एक सप्ताह हो गया है।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस