नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। कोविड-19 का सबसे ज्यादा असर पर्यटन उद्योग पर देखने को मिला है। अगर इस महामारी पर अंकुश लग भी जाता है तो यह पर्यटन उद्योग में काफी बदलाव करने वाला है। होटल बुकिंग प्लेटफार्म कंपनी ओयो भविष्य में होने वाले इन बदलावों के मद्देनजर अपनी रणनीति भी बदल रही है। कंपनी पूरी तरह से टचलेस चेक-इन व चेक-आउट के साथ ही हाउसकीपिंग व रूम सर्विस को भी कम से कम मानवीय टच वाला बनाने की रणनीति तैयार की है। कंपनी के तहत आने वाले सभी प्रोपर्टीज में सैनिटाइज्ड स्टे का टैग डिस्पले किया जाएगा जो इस बात की गारंटी होगी कि वहां की सभी सुविधाएं पूरी तरह से सुरक्षित हैं।  

अब जबकि लॉकडाउन में राहत मिलनी शुरु हो गई है तो कंपनी ने अगले 10 दिनों में 1,000 होटलों में अपनी सेवाओं की शुरुआत करने जा रही है। Oyo के सीइओ (India & South Asia) रोहित कपूर ने बताया है कि दुनिया भर में होटल गेस्ट का व्यवहार बदल जाएगा।

भारत में फिलहाल तीर्थ पर जाने वाले और वीकेंड में सड़कों से आस पास के छोटे-बड़े पर्यटन स्थल पर जाने वालों की भीड़ बढ़ेगी। इसके बाद एक राज्य से दूसरे राज्य में अपनी गाड़ी से पर्यटन पर जाने वालों की संख्या भी बढ़ेगी। इससे पर्यटन व होटल उद्योग से जुड़े लोगों के लिए नई तरह की संभावनाएं पैदा होंगी।  

पर्यटन पर जाने वालों के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा सबसे बड़ी चिंता होगी। ओयो इन चिंताओं को दूर कर बिल्कुल सुरक्षित स्टे देने के लिए तैयार है। हमें उम्मीद है कि मौजूदा चुनौतियों के बाद हमारे पास विस्तार के नए अवसर होंगे। 

कपूर ने कहा, ''हमारी सभी प्रापर्टी में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही गेस्ट व कर्मचारियों का आवश्यक तौर पर स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। क्यूआर कोड की सुविधा होगी साथ ही आईकार्ड पहले से ही डाउनलोड करने की सुविधा होगी ताकि प्रोपर्टी में आने के बाद अनावश्यक टच से बचा जा सके।''

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस