नई दिल्ली, पीटीआइ। सरकारी क्षेत्र की कोल इंडिया ने अपने नॉन-एक्जीक्यूटिव स्टाफ के लिए 72,500 रुपये प्रति कर्मचारी के हिसाब से बोनस देने का मंगलवार को ऐलान किया। वित्त वर्ष 2020-21 की अवधि के लिए इस बोनस का ऐलान किया गया है। परफॉर्मेंस-लिंक्ड रिवार्ड (PLR) के रूप में दिए जाने वाले इस बोनस का भुगतान 11 अक्टूबर या उससे पहले कर दिया जाएगा। महारत्न कंपनियों में शुमार कोल इंडिया की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ''कोल इंडिया लिमिटेड (CIL) और उसकी अनुषंगी कंपनियों तथा सिंगरेनी कोलियरीज कंपनी लिमिटेड (SCCL) के नॉन-एक्जीक्यूटिव कैडर के कर्मचारियों को वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 72,500 रुपये का PLR मिलेगा।''

इस बयान में कहा गया है कि नई दिल्ली स्थित सीआईएल कार्यालय में सेंट्रल ट्रेड यूनियन्स के प्रतिनिधियों और CIL तथा SCCL के प्रबंधन के बीच सोमवार को हुई द्विपक्षीय बैठक में इस बाबत फैसला किया गया।

कोयला और खान मंत्री प्रह्लाद जोशी ने एक ट्वीट कर कहा है, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अगुवाई वाली सरकार कोयला योद्धाओं के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। देश के निर्माण में उनके प्रयासों को देखते हुए परफॉर्मेंस-लिंक्ड रिवॉर्ड को 68,000 रुपये से बढ़ाकर इस साल प्रति व्यक्ति 72,500 रुपये कर दिया गया है।''

इस बयान में कहा गया है कि इस कदम से 2,50,052 कर्मचारियों को फायदा होगा।

उल्लेखनीय है कि सीआईएल, इसकी अनुषंगी कंपनियों और SCCL के नॉन-एक्जीक्यूटिव कैडर के कर्मचारियों को पिछले साल पीएलआर के रूप में 68,000 रुपये मिले थे।

कोयला के घरेलू उत्पादन में सीआईएल की हिस्सेदारी 80 फीसद से ज्यादा है।

Edited By: Ankit Kumar