नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। ई- कॉमर्स में नई एफडीआइ नीति के खिलाफ ऑनलाइन कंपनियों के विरोध को देखते हुए कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने सरकार को चेताया है। संगठन ने चेतावनी दी है कि यदि इन कंपनियों के दबाव में सरकार ने कोई ढील दी तो देशभर के खुदरा कारोबारी जबर्दस्त विरोध करेंगे। कैट ने सरकार से इन कंपनियों के कारोबार की संपूर्ण जांच की भी मांग रखी है।

बुधवार को कैट के अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि सरकार इन कंपनियों की जांच करे और जिसने भी पॉलिसी का उल्लंघन किया हो, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। संगठन की तरफ से दोनों पदाधिकारियों ने सरकार से एक मजबूत ई-कॉमर्स पॉलिसी घोषित करने की मांग की है।

उन्होंने पॉलिसी के नियम घरेलू ई-कॉमर्स कंपनियों पर भी समान रूप से लागू करने की मांग की, ताकि ई-कॉमर्स बाजार में एकरूपता बनी रहे। कैट ने आरोप लगाया कि इन कंपनियों के व्यापारिक व्यवहार से फेमा सहित अनेक कानूनों का उल्लंघन हुआ है। उनके मुताबिक ई-कॉमर्स में अधिक पारदर्शिता और निष्पक्षता लाना जरूरी है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप