नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। कोरोना महामारी और चीन के साथ जारी तनातनी के बीच अगले महीने यानी अगस्त से त्योहारों का सीजन प्रारंभ हो रहा है। त्योहारों का यह सीजन नवंबर तक चलेगा। इस दौरान राखी, जन्माष्टमी, गणेशोत्सव, नवरात्रि, दुर्गा पूजा, धनतेरस, दिवाली, भैया दूज, छठ एवं तुलसी विवाह जैसे त्योहार मनाए जाएंगे। इन त्योहारों में भारतीय सामानों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए रिटेल कारोबारियों के संगठन कैट ने एक विस्तृत योजना बनायी है। कैट ने देश के सभी व्यापारी संगठनों को इस संदर्भ में संदेश जारी किया है। कैट की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि संगठन आगामी त्योहारों में उपयोग में आने वाली वस्तुओं की एक सूची तैयार कर रहा है। संगठन के मुताबिक यह सूची 11 नवंबर तक तैयार हो जाएगी।  

प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक कैट ने देश के सभी प्रदेशों में काम कर रहे कैट की राज्यस्तरीय टीम तथा अन्य प्रमुख व्यापारी संगठनों को यह सलाह दी है कि वे इन त्योहारों से संबंधित भारतीय सामान बनाने वाले निर्माता, कारीगर, लघु उद्योग, कुम्हार, महिला उद्यमी, स्वयं उद्यमी, स्टार्टअप आदि से संपर्क कर यह डेटा इकट्ठा करें कि उनकी उनके राज्य में कितनी मात्रा में ये सामान बनते हैं। साथ ही खपत को लेकर भी डेटा इकट्ठा करने को कहा गया है। इसके लिए कैट ने 15 जुलाई की अंतिम तारीख तय की है। 

(यह भी पढ़ेंः चीन में बैंकों के डूबने की आशंका से भारी निकासी कर रहे ग्राहक, इसे रोकने को ड्रैगन का नया प्लान)  

यह डाटा कैट के दिल्ली स्थित केंद्रीय कार्यालय में आएगा, जिसमें दोनों डाटा के आधार एक वृहद डेटा तैयार होगा, जिसके अनुरूप कैट देश भर में मांग और आपूर्ति के बीच एक तालमेल बैठा कर संबंधित व्यापारियों के लिए यह सुनिश्चित करेगा कि देश में कहीं भी भारतीय सामान का अभाव न हो। 

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा है कि इस भारतीय त्योहारी अभियान में कैट से संबंधित सभी राज्यों में महिला टीम की विशेष भूमिका होगी और कैट देश के सभी राज्यों में कार्यरत महिला संगठनों को प्रेरित करेगा कि त्योहारों से सम्बंधित सामान महिलाओं द्वारा ज्यादा से ज्यादा बनाए जाएं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021