नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। देश की दिग्गज टेलिकॉम ऑपरेटर कंपनी भारती एयरटेल ने दक्षिण अफ्रीका की मिलिकॉम इंटरनेशनल सेल्युलर के साथ साझेदारी कर रवांडा ऑपरेशन्स में 100 फीसद स्टेक प्राप्त कर लिया है। मौजूदा समय में यह टिगो रवांडा के ब्रैंड नेम के तहत परिचालन कर रहा है।

भारती एयरटेल ने अपने एक बयान में बताया, “भारतीय एयरटेल लिमिटेड ने मिलिकॉम इंटरनेशनल सेल्युलर के साथ करार किया है। इसके तहत एयरटेल रवांडा लिमिटेड टिगो रवांडा लिमिटेड की 100 फीसद हिस्सेदारी खरीद लेगी।”

इस करार के तहत टिगो के 370 मिनियन ग्राहक एयरटेल रवांडा के नेटवर्क के साथ जुड़ जाएंगे। इस अधिग्रहण के बाद एयरटेल रवांडा उस देश की दूसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी बन जाएगी। इसके साथ कंपनी का राजस्व 80 मिलियन डॉलर और 40 फीसद का रेवेन्यू मार्केट शेयर हो जाएगा।

वर्तमान में एयरटेल भारत और दक्षिण एशिया के देशों के अलावा 15 अफ्रीकी देशों में अपना परिचालन कर रही है। भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल ने कहा, “एयरटेल और टिगो पहले ही घाना में एक मजबूत इकाई बनने के लिए अपने परिचालन का विलय कर चुके हैं। कंपनी ने टिगो रवांडा के अधिग्रहण के साथ एक नए मुनाफा कमाने और मजबूत प्रतिस्पर्धी बनने की दिशा में यह अहम कदम उठाया है।”

पूर्व में एयरटेल अफ्रीका में कई अधिग्रहण कर चुकी है। कंपनी ने उगांडा और कांगो बी में वरिड के परिचालन का, केन्या में यू मोबाइल का और घाना में मिलीकॉम का अधिग्रहण किया हुआ है।

Posted By: Surbhi Jain